Home BLOG 60 Best Manufacturing Business Ideas in Hindi

60 Best Manufacturing Business Ideas in Hindi

by Manish Sharma
Manufacturing Business Ideas in Hindi

60 Best Manufacturing Business Ideas in Hindi

दोस्तों जब भी हम मैन्युफैक्चरिंग बिज़नस के बारें में सोचते हैं तो सबसे पहले हमारे दिमाग में यही बात आती है कि कैपिटल कितना लगेगा। आप अपने कैपिटल के अनुसार ही छोटा या बड़ा व्यापार शुरू कर सकते हैं। दोस्तों आप में से कई लोग ऐसे होंगे जो कि किसी ना किसी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस की तलाश में होंगे और यह नहीं समझ पा रहे होंगे कि कौन सा बिजनेस करना सही रहेगा और कौन सा नहीं, किस बिजनेस में ज्यादा मुनाफा होगा और किस में काम, कौन से बिजनेस में कंपटीशन है और कौन से बिजनेस में नहीं, आप लोगों की इसी समस्या का समाधान आज लेकर मैं आया हूं।

आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे 60 छोटे और बड़े ऐसे मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस के बारे में जिसे आप अपने कैपिटल के अनुसार कर सकते हैं, तो आइए जानते हैं कौन से हैं यह बिजनेस:

1. पापड़ मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Papad Manufacturing Business):

Papad Manufacturing Business

दोस्तों पापड़ का बिजनेस एक अच्छा बिज़नेस आईडिया है क्योंकि आप इसे कम पूंजी मैं शुरू कर सकते हैं साथ ही इसमें प्रॉफिट की संभावनाएं भी अधिक रहती है।अगर आप पापड़ का बिजनेस करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको पापड़ बनाने और उसको सूखने के लिए अच्छी व्यवस्था करनी होगी।पापड़ एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसकी डिमांड हर जगह और हर समय रहती है।गांव हो या शहर होटल हो या रेस्टोरेंट पापड़ की डिमांड हर जगह रहती है।

आप अपने ग्राहकों के लिए कई वैराइटीज के पापड़ बना सकते हैं और उसे मार्केट में बेचकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। शुरुआत में आप इस बिजनेस की शुरुआत अपने घर से कर सकते हैं और जैसे-जैसे आपको आर्डर मिलता जाता है वैसे- वैसे आप इसे बड़ा रूप भी दे सकते हैं और पापड़ बनाने की मशीन भी खरीद सकते हैं।

यदि आप इस बिजनेस की शुरुआत घर से करना चाहते हैं तो 15000 से 30,000 और यदि आप इसे बड़े लेवल पर करना चाहते हैं तो लगभग डेढ़ लाख रुपए तक का इन्वेस्टमेंट करना होगा। सरकार द्वारा भी पापड़ का बिज़नेस शुरू करने के लिए कई स्कीम चलायी गयी है जिसके तहत आपको बिज़नेस को शुरू के लिए सरकारी मदद दी जाती है। 

2. मसाला मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस  (Masala Manufacturing Business):

Masala Manufacturing Business

दोस्तों मसाले का बिजनेस भी एक बहुत अच्छा बिजनेस माना जाता है। मसाला किचन में काम आने वाला सबसे महत्वपूर्ण प्रोडक्ट है बिना मसाले की आप सब्जी की कल्पना भी नहीं कर सकते और वैसे भी हमारे देश के लोग मसाला कुछ ज्यादा ही खाते हैं। चूँकि कि भारत जनसंख्या के हिसाब से एक बहुत ही बड़ा देश है और यहां पर विभिन्न प्रकार के लोग रहते हैं और उनका खाना पीना भी बिल्कुल अलग- अलग होता है इसलिए तरह-तरह के मसाले की डिमांड भी बढ़ जाती है।इस कारण कई लोग मसाले का व्यापार करके अच्छा खासा मुनाफा कमाते हैं।

छोटी सी मशीन लेकर आप इसकी शुरुआत अपने घर से भी कर सकते हैं। आप एक ही मशीन में कई तरह के मसाले पीसकर और उसकी पेकेटिंग कर कर मार्केट में सप्लाई कर सकते हैं। आप कुछ बेसिक मसाले जैसे धनिया मिर्च, हल्दी, गरम मसाला आदि से इसकी शुरुआत कर सकते हैं और धीरे-धीरे अपने प्रोडक्ट की रेंज को बढ़ा सकते हैं और अगर आपका बिजनेस अच्छा चलता है तो भविष्य में आप इसे बड़ा रूप भी दे सकते हैं।

यदि आप इस बिजनेस की शुरुआत घर से करना चाहते हैं तो 50 हजार से 80 हजार और यदि आप इसे बड़े लेवल पर करना चाहते हैं तो लगभग 2 लाख से 5 रुपए तक का इन्वेस्टमेंट करना होगा।

3. टॉय मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस  (Toy Manufacturing Business):

Toy Manufacturing Business

इस वक्त भारत में खिलौने की बाजार की चर्चा बहुत हो रही है और कोरोना की वजह से लगे प्रतिबंध के कारण चीन से किसी भी प्रकार के खिलौने नहीं आ रहे हैं साथ ही साथ सरकार भी चाहती है कि भारतीय खिलौने की मांग बाजार में बढ़े और यहां के लोगों को रोजगार मिले।एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में खिलौने का व्यापार करीब 15 से 20% की दर से बढ़ रहा है।

खिलौने के बिजनेस को कम पैसों में और आसानी से शुरू किया जा सकता है साथ ही साथ इससे अच्छा मुनाफा भी कमाया जा सकता है। क्योंकि मार्केट में इसकी डिमांड हमेशा बनी रहती है तो मंदी का कोई खतरा नहीं रहता। इसमें आप कई तरह के खिलौने बना सकते हैं और मार्केट में उसे उतार सकते हैं
अगर आपकी प्रोडक्ट रेंज अच्छी है और आप कई तरह के खिलौने बनाते हैं तो आपको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।

इसमें आप कई तरह के खिलौने जैसे एक्शन टॉय, सॉफ्ट टॉय, साउंड वाले खिलौने, टेडी बेयर,बैटरी वाली गुड़िया, वॉकर,बच्चों के लिए रिक्शा और झूला आदि बना सकते हैं। आप 40 से 50 हजार रुपए में इसकी शुरुआत कर सकते हैं और धीरे-धीरे इसे आगे बढ़ा सकते हैं।

4. बेकिंग पाउडर मैन्युफैक्चरिंग बिज़नेस (Baking Powder Manufacturing Business):

Baking Powder Manufacturing Business

भारत में दिन प्रतिदिन फास्ट फूड का मार्केट बढ़ता जा रहा है और जब भी हम फास्ट फूड की बात करते हैं तो बेकिंग पाउडर का जिक्र होना भी अनिवार्य है। इसका व्यवसाय करना भी आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है इस बिजनेस को करने के लिए आपको 1000 से 1500 स्क्वायर फीट जगह की जरूरत पड़ेगी साथ ही इस बिजनेस को चलाने के लिए लगभग 8 से 10 लोगों की जरूरत पड़ेगी जिनमें एक केमिस्ट भी शामिल होगा।

इस बिजनेस की शुरुआत आपको इंडस्ट्रियल स्टेट से करनी होगी साथी आपको बिजली पानी की भी पूरी व्यवस्था रखनी होगी। शहर छोटा हो या बड़ा आप किसी भी जगह से इस बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं शुरुआत में आप इसे छोटे रूप में कर सकते हैं और व्यापार बढ़ने पर इसे बड़ा रूप दे सकते हैं।

अगर आप इसे छोटे स्तर पर करना चाहते हैं तो लगभग आपको 5 से 7 लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे और यदि आप इसे बड़े रूप में करना चाहते हैं तो आपको करीब करीब 25 से 30 लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे। मशीन से जुड़ी जानकारी पाने के लिए आप इंडियामार्ट की वेबसाइट पर जाकर इसकी पूरी जानकारी ले सकते हैं।

5. एनवेलप मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस  (Envelope Manufacturing Business):

Envelope Manufacturing Business

Envelope Making यानि लिफाफा बनाने का व्यापार शुरू करना भी आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है जिसे बेहद कम निवेश के साथ एवं बड़ी आसानी से शुरू किया जा सकता है । हम सब जानते हैं की लिफाफा स्टेशनरी आइटम्स में में एक प्रमुख आइटम है । इसका उपयोग स्टेशनरी आइटम के रूप में छोटे बड़े कार्यालयों एवं घरों में बड़े तौर पर किया जाता है।

सामान्य लिफाफों का अधिकांश इस्तेमाल लेटर व डॉक्यूमेंट पोस्ट करने के लिए किया जाता है अर्थात किसी दस्तावेज को कूरियर या पोस्ट ऑफिस इत्यादि के माध्यम से भेजने में इन लिफाफों का इस्तेमाल अधिकाधिक किया जाता है । आप छोटे-बड़े कई तरह के लिफाफे बनाकर मार्केट में बेच सकते हैं। इसके अलावा फैंसी लिफाफों का इस्तेमाल तरह तरह के ग्रीटिंग कार्ड जैसे क्रिसमस, नए साल,  लेंटाइन, बर्थडे, एनिवर्सरी इत्यादि कार्डों की पैकिंग के लिए किया जाता है।

यदि आप इस बिजनेस की शुरुआत घर से करना चाहते हैं तो 10 हजार से 30 हजार और यदि आप इसे बड़े लेवल पर करना चाहते हैं तो लगभग 2 लाख से 4 लाख रुपए तक का इन्वेस्टमेंट करना होगा।

6. चार्जर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Charger Manufacturing Business):

Charger Manufacturing Business

आप सभी जानते हैं कि भारत में मोबाइल की डिमांड कितनी है और किस रफ्तार से मोबाइल का यूज बढ़ते जा रहा है और जब भी हम मोबाइल के बात करते हैं तो इसके चार्जर की बात करना भी अनिवार्य हो जाता है।

सभी जानते हैं कि स्मार्टफोन में बैटरी बहुत जल्द खत्म हो जाती है और उसे बार-बार चार्ज करना पड़ता है और इसी बार बार चार्ज करने की प्रक्रिया में कई बार हमारा चार्जर खराब हो जाता है और जब हम ओरिजिनल चार्जर खरीदने जाते हैं तो उसके लिए हमें काफी पैसे चुकाने पड़ते हैं जो कि कई बार हमारे लिए संभव नहीं होता।

इसीलिए मोबाइल चार्जर का बिजनेस आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकता है इस बिजनेस को आप अपने घर से भी स्टार्ट कर सकते हैं चार्जर को बनाने से जुड़े सभी तरह के पार्ट्स आपको बड़ी ही आसानी से मार्केट में मिल जाएंगे।

यदि आप इस बिजनेस की शुरुआत घर से करना चाहते हैं तो 50 हजार से 1 लाख हजार और यदि आप इसे बड़े लेवल पर करना चाहते हैं तो लगभग 2 लाख से 5 लाख रुपए तक का इन्वेस्टमेंट करना होगा।

7. बिस्किट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Biscuit Manufacturing Business):

Charger Manufacturing Business

बिस्कुट एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसका सेवन हर आयु के व्यक्ति द्वारा किया जाता है साथ ही साथ बाजार में इसकी मांग भी में हमेशा बनी रहती है। वहीं बाजार में पहले से ही कई सारी बिस्किट बनाने वाली कंपनियां मौजूदजो कि तरह-तरह के बिस्किट बनाकर लोगों को बेचती हैं।

वहीं इस व्यापार के प्रमुख टारगेट की बात करें यानी मुख्य ग्राहकों की तो, वो हैं बच्चे. बच्चों को अक्सर बिस्कुट पसंद आते हैं साथ ही साथ वह हमेशा नए टेस्ट की तलाश में रहते हैं जिसके चलते हर साल कई लोग इस व्यापार में प्रवेश करते हैं। अगर भारत में बिस्किट के व्यापार की बात करें तो,भारत में मौजूद सभी व्यापारों में से सबसे लाभदायक व्यापार बिस्किट का है।

आने वाले समय में इस व्यापार के और तेजी से बढ़ने के आसार हैं। ऐसे में इस व्यापार को शुरू करना काफी फायदेमंद हो सकता है। अगर आप अपनी पैकेजिंग और टेस्ट पर ध्यान दें तो आपको इस बिजनेस में आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता

इस बिजनेस को शुरुआत करने के लिए आपको सात से आठ तरह की मशीनों जरूरत होगी जिसकी लागत लगभग 30 से 35 लाख रुपए होगी।

8. पेन रिफिल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Pen Refill Manufacturing Business):

Pen Refill Manufacturing Business

पेन प्रत्येक शिक्षित व अशिक्षित व्यक्ति द्वारा यूज किए जाने वाला प्रोडक्ट है और किसी भी पेन का सबसे महत्वपूर्ण भाग होता है उसकी रिफिल। बिना रिफिल के किसी भी पेन का कोई महत्व नहीं है  साथ ही साथ रिफिल की क्वालिटी भी सही होनी बहुत जरूरी है। 

रिफिल का बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा बिजनेस साबित हो सकता है आपको इसकी मैनुअल मशीन 25 से 30  हजार रुपए में आसानी से मिल जाएगी। अगर जगह की बात करूं तो इसके लिए आपको 200 से 300 स्क्वायर फीट जगह की जरूरत पड़ेगी और आप इसकी शुरुआत अपने घर से भी कर सकते हैं। इस बिजनेस की शुरुआत करके आप बड़े आसानी से 30 से 40 हजार रुपए महीने के कमा सकते हैं बाकी आपके बिजनेस के साइज पर डिपेंड करता है।

आप इसे होलसेल और रिटेलर दोनों को बेच सकते हैं  लेकिन अगर आपके मैन्युफैक्चरर हैं तो सही तरीका यह होगा कि आप इसे होलसेलर को सेल करें इससे आपका मुनाफा थोड़ा कम हो सकता है लेकिन आपका टर्नओवर बढ़ जाएगा लेकिन अगर आपको ज्यादा प्रॉफिट चाहिए तो आपको इसे डायरेक्टली रिटेलर्स को सेल करना होगा।

9. प्लास्टिक बॉटल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Plastic Bottle Manufacturing Business):

Plastic Bottle Manufacturing Business

अगर प्लास्टिक से बने सामानों की बात की जाए अनगिनत प्रोडक्ट हमारे माइंड में आ जाएंगे, उनमें से ही एक प्रोडक्ट है प्लास्टिक की बोतल, चाहे बड़े शहर हो छोटे शहर प्लास्टिक की बोतलें आपको हर जगह देखने को मिल जाएगी फिर चाहे वह पानी की बोतल हो, तेल की बोतल हो, या किसी और चीज की बोतल हो आजकल ज्यादातर प्रोडक्ट्स को प्लास्टिक की बोतल में ही पैक किया जाता है ऐसा इसलिए क्योंकि प्लास्टिक की बोतल काफी सस्ती होती है और गिरने पर यह टूटती भी नहीं है।

इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत आप मिनरल वाटर बोतल, कोल्ड ड्रिंक बॉटल, रिफाइंड ऑयल बॉटल, मस्टर्ड ऑयल बॉटल, कॉस्मेटिक आइटम बोतल, हेल्थ प्रोडक्ट बोतल से जुड़ी बोतल बना सकते हैं।
यही कारण है कि इसकी डिमांड बहुत ही अधिक है और इस इंडस्ट्री में निवेश बढ़ता जा रहा है। यह बिजनेस एक बिग इन्वेस्टमेंट पर आधारित बिजनेस है पर आपको इसमें प्रॉफिट भी उतना ही अधिक मिलता है।

इसे बनाने के लिए आपको जिस कच्चे माल की जरूरत पड़ेगी वह भी आपको बड़े आसानी से हमारे देश में ही मिल जाएगा, अगर आप एक बड़ा इन्वेस्टमेंट करने के लिए तैयार हैं तो एक बार इस बिजनेस पर विचार अवश्य करें। अगर इस पर आने वाली लागत की बात की जाए तो वह इस बिजनेस के साइज पर डिपेंड करेगी फिर भी आप लगभग 2 लाख से 15 लाख इन्वेस्टमेंट करके इस बिजनेस को स्टार्ट कर सकते हैं।

10. ऑटोमोबाइल  पार्ट्स मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Automobile Parts Manufacturing Business):

Automobile Parts Manufacturing Business

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री दुनिया की सबसे बड़ी इंडस्ट्री में शुमार है पिछले कुछ समय से भारत में भी ऑटो इंडस्ट्री का विकास तेजी से हो रहा है जैसे-जैसे लोगों की आमदनी बढ़ती जा रही है वैसे-वैसे लोगों बाइक, स्कूटी, कार आदि खरीदते जा रहे हैं आप जब भी गाड़ी या बाइक खरीदते हैं आप उसमें कुछ ना कुछ एक्सेसरीज जरूर लगवाते हैं जिसके लिए आपको अलग से पेमेंट करना होता है।

इसके साथ ही ट्रांसपोर्ट बिजनेस भी बढ़ता जा रहा है और इससे जुड़ी गाड़ियां भी तेजी से बिक रही है| यही कारण है की यह बिजनेस आपके लिए एक अच्छा बिजनेस ऑप्शन हो सकता है। इस बिजनेस के अंतर्गत आप टू व्हीलर से जुड़े पार्ट्स बना सकते हैं जैसे हेलमेट, सीट कवर, मिरर ग्लास, बॉडीगार्ड, पोलिस आदि और अगर फोर व्हीलर की बात की जाए तो इसमें भी आप सीट कवर, व्हील कवर, कार पॉलिश और और भी कई तरह के एक्सेसरीज बना सकते हैं।

अगर इस पर आने वाली लागत की बात की जाए तो उसका अनुमान लगाना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि इसके अंतर्गत अनगिनत प्रोडक्ट्स आते हैं और आप कौन सा प्रोडक्ट बनाते हैं उसी पर आपका इन्वेस्टमेंट भी डिपेंड करता है।

11. स्टेशनरी प्रोडक्ट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Stationery Product Manufacturing Business): 

Stationery Product

स्टेशनरी प्रोडक्ट्स का बिजनेस थी आपके लिए एक अच्छा बिजनेस ऑप्शन हो सकता है अगर स्टेशनरी प्रोडक्ट्स की बात की जाए तो ऐसा कोई बिजनेस नहीं है जहां स्टेशनरी प्रोडक्ट्स की डिमांड ना हो फिर चाहे वह ऑफिस हो, दुकान हो ,होटल हो, फैक्ट्री हो, बैंक हो,स्कूल हो, कॉलेज हो, हॉस्पिटल हो, या फिर घर ही क्यों ना हो स्टेशनरी प्रोडक्ट्स की डिमांड हर जगह होती है।

इसके अंतर्गत भी अनगिनत प्रोडक्ट्स आते हैं जैसे फाइल, सेलो टेप, इरेज़र, पेंसिल, पेन, स्टेप ल, इंक पैड,फोल्डर, ग्लू,पेपर, कलर पेंसिल आदि आप चाहे तो इस बिजनेस के अंतर्गत किसी एक प्रोडक्ट को या फिर कई तरह के प्रोडक्ट्स को बना सकते हैं।

इसे छोटे और बड़े दोनों रूप में किया जा सकता है आप इसे कम से कम लागत में शुरू कर सकते हैं और अगर लागत की बात की जाए तो आप कौन सा प्रोडक्ट बनाते हैं यह सब बातें उस पर डिपेंड करेगी

12. स्मार्ट फोन बैक कवर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Smart Phone Back Cover Manufacturing Business):

Smart Phone Back Cover Manufacturing Business

वर्तमान समय में मोबाइल सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में से एक है कई बड़ी-बड़ी कंपनियां है जो विभिन्न प्रकार के फीचर्स और लुक के साथ मोबाइल बना रही है साथ ही साथ मार्केट में हर दिन कोई न कोई नया मॉडल आता ही रहता है। आप जब भी कोई नया मोबाइल लेते हैं तो आप बैक कवर भी जरूर खरीदते हैं ताकि आपका मोबाइल सेफ रहे साथ ही साथ आप उसे एक नया लुक भी दे सके।

कई लोग ऐसे भी होते हैं जो थोड़े थोड़े दिन पर अपने मोबाइल कवर को बदलते रहते हैं यही कारण है की मार्केट में इसकी डिमांड बढ़ती जा रही है इसीलिए यह बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। इस बिजनेस की शुरुआत आप अपने घर से भी कर सकते हैं और अगर लागत की बात की जाए तो आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं। आप इस बिजनेस के द्वारा 40 से 50 हजार रुपए तक बड़ी आसानी से कमा सकते हैं बाकी आपकी मेहनत पर डिपेंड करता है।

इस काम के लिए काम आने वाले मशीनों में एक कंप्यूटर, एक सबलिमेशन मशीन, एक सबलिमेशन प्रिंटर, सबलिमेशन पेपर्स, सबलिमेशन टेप, मोड्ल के लिए डाई और 99 सबलिमेशन सॉफ्टवेयर आदि आवश्यक रॉ मटेरियल और मशीनरी की जरुरत होती है. यह सभी चीजें आपको सप्लायर द्वारा आसानी से उपलब्ध करा दी जाएगी।

13. फर्नीचर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Furniture Manufacturing Business):

Furniture Manufacturing Business

ऐसी कोई जगह नहीं है जहां फर्नीचर की जरूरत ना हो फिर चाहे वह घर हो, ऑफिस हो, हॉस्पिटल हो, स्कूल हो, दुकान हो हर जगह किसी ना किसी तरह की फर्नीचर की जरूरत होती ही है। ऐसे में आप फर्नीचर का बिजनेस करके अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं बशर्ते आपके पास फर्नीचर मेकिंग का ज्ञान और अगर आपको ज्ञान ना हो तो आप किसी फर्नीचर बनाने वाले कारीगर को काम पर रख सकते हैं।

फर्नीचर बनाने के लिए सबसे पहले आपके पास एक अच्छा स्पेस होना जरूरी है जो आपके घर पर भी उपलब्ध हो या फिर कहीं और।

इसके आगे आपको सबसे जरूरी संसाधन की जरूरत होती है, जिसके बिना आप इस बिजनेस को नहीं कर पाएंगे और वो है ‘‘फर्नीचर मेकिंग मशीन‘‘। फर्नीचर बनाने की मशीन के अलावा आपको कई सारे टूल्स और चीजें जैसे आरी, मापनी और लकड़ी आदि भी खरीदनी पड़ेगी। मशीन से लेकर इन संसाधनों को खरीदने में आपके दो से ढाई लाख रुपये तक का खर्च आएगा बाकी आप इस बिजनेस को किस लेवल पर करते हैं उस पर भी डिपेंड करेगा। इस बिजनेस के द्वारा भी आप अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं बाकी आपकी मेहनत पर डिपेंड करता है।

14. कप  मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Cup Manufacturing Business):

Cup

आज अगर आप अपने आसपास देखेंगे तो कोई भी ऐसी चाय की दुकान नहीं मिलेगी जिसमें पेपर कब का इस्तेमाल ना होता हो यही नहीं पेपर का का इस्तेमाल और भी कई जगह पर होता है, जैसे पार्टी, फंक्शन, शादी समारोह,बर्थडे पार्टी आदि। पेपर कप मेकिंग बिजनेस में  आप अलग-अलग साइज के ग्‍लास तैयार  कर सकते हैं  और उसे मार्केट में भेज सकते हैं।

पेपर कब की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है क्योंकि यह आसानी से डिस्पोज हो जाता है और पर्यावरण को किसी तरह का नुकसान भी नहीं पहुंचाता है। इस बिजनेस की शुरुआत आप अपने घर से भी कर सकते हैं आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं। आप इस कारोबार को बड़े और छोटे दोनों स्तरों पर शुरू कर सकते हैं।

15. टी शर्ट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (T-Shirt Manufacturing Business):

T-Shirt Manufacturing Business

आज के यंग जनरेशन की बात करें तो उसे हर दिन कुछ ना कुछ नया चाहिए फिर चाहे वह टीशर्ट ही क्यों ना हो आज के समय में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जो बेहतर डिजाइन के साथ अच्छी टीशर्ट ना पहनना चाहता हो। इस समय कई बड़ी कंपनियां सिर्फ और सिर्फ प्रिंटेड और स्टाइलिश टीशर्ट बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमा रही है अलग-अलग तरह की डिजाइन और रंगों की टीशर्ट बेचकर आप भी अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं।

अगर बात की जाए इस में आने वाले इन्वेस्टमेंट की तो उसका अंदाजा लगाना भी थोड़ा मुश्किल है यह पूरी तरह इस पर डिपेंड करता है कि आप किस तरह की और किस क्वालिटी की टीशर्ट बनाना चाहते हैं आप इसे छोटे और बड़े दोनों स्तर पर कर सकते हैं।

अगर आप टी शर्ट मैन्युफैक्चरिंग का बिजनेस नहीं करना चाहते तो टी शर्ट प्रिंटिंग का बिजनेस आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है और इस बिजनेस को आप अपने घर से भी स्टार्ट कर सकते हैं  इससे जुड़ी कई सारी जानकारियां आपको यूट्यूब पर देखने को मिल जाएगी।

16. जींस पेंट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Jeans Pant Manufacturing Business):

Jeans Pant Manufacturing Business

दोस्तों इसमें कोई संदेह नहीं है कि पूरे देश में और यहां तक कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में जीन्स-पैंट की अच्छी  खांसी  डिमांड है और अधिकांश बाजार पर अंतरराष्ट्रीय कंपनियों का कब्जा है फिर भी हमारे देश में कई ब्रांडेड जींस पेंट मैन्युफैक्चरिंग यूनिट मौजूद है  और अच्छा खासा काम कर रही है और अगर हम भारत की बात करें तो यहां गैर ब्रांडेड जींस पैंट की मांग बहुत ज्यादा है।भारत में जींस पैंट का व्यापार 8  से 12 प्रतिशत  की दर से बढ़ रहा है 

कई लोगों को इस से कोई मतलब नहीं की जींस पैंट ब्रांडेड है या नहीं उन्हें सिर्फ और सिर्फ उसकी डिजाइन, उसकी क्वालिटी और उसकी कीमत से मतलब है यही कारण है कि भारत में जींस पैंट का व्यापार तेजी से बढ़ता जा रहा है। इसकी मार्केटिंग में आपको ज्यादा पैसा खर्च नहीं करना होता यही कारण है कि आप कम कीमत पर अपने प्रोडक्ट को मार्केट में सेल कर सकते हैं और अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं 

इस व्यापार में आपको हाई  स्किल लेबर की जरूरत होगी और लेबर की संख्या बिजनेस के साइज पर डिपेंड करेगीअगर बात की जाए इस में आने वाले इन्वेस्टमेंट की तो उसका अंदाजा लगाना भी थोड़ा मुश्किल है क्योंकि यह पूरी तरह इस पर डिपेंड करता है कि आप किस तरह की और किस क्वालिटी की जीन्स-पैंट बनाना चाहते हैं आप इसे छोटे और बड़े दोनों स्तर पर कर सकते हैं।

17. सैनिटरी पैड्स मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Sanitary Pads Manufacturing Business):

Sanitary Pads Manufacturing Business

दोस्तों  सेनेटरी पैड बनाने का बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है इस बिजनेस की शुरुआत आप अपने घर से भी कर सकते हैं और धीरे-धीरे व्यापार बढ़ने पर इसे कहीं और भी  शिफ्ट करके बड़ा रूप दे सकते हैंइस बिजनेस की शुरुआत आप बहुत छोटे निवेश के साथ कर सकते हैं और अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं  साथ ही साथ आप आसपास के कई सारे लोगों को रोजगार उपलब्ध करवा सकते हैं

वैसे तो मार्केट में कई तरह के ब्रांडेड  सेनेटरी पैड पहले से ही उपलब्ध है लेकिन उनकी कीमत बहुत ज्यादा होती हैअगर आप कम दाम पर अच्छे सैनिटरी पैड्स बनाकर मार्केट में सेल करते हैं तो आप बड़ी आसानी से मार्केट को  कैप्चर कर सकते हैं  आपको इसे सफल बनाने के लिए थोड़ी बहुत मार्केटिंग भी करनी होगी साथ ही साथ इस की पैकेजिंग पर भी ध्यान देना होगा आप इसे होलसेलर और रिटेलर्स दोनों को बेच सकते हैं 

सेनेटरी पैड बनाने की लागत बहुत ही कम आती है और इसे अच्छे दामों में मार्केट में बेचा जा सकता हैअगर बात की जाए मार्केट में इसकी डिमांड की तो मार्केट में इसकी डिमांड साल भर बनी रहती है यानी इस बिजनेस में मंदी का कोई खतरा नहीं 

आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं। आप इस कारोबार को बड़े और छोटे दोनों स्तरों पर शुरू कर सकते हैं।

18. टिशु पेपर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Tissue Paper Manufacturing Business): 

Tissue Paper Manufacturing Business

वर्तमान समय में ऐसी कोई जगह नहीं है जहां टिशु पेपर का यूज ना होता हो फिर चाहे वह चाय की दुकान हो, रेस्टोरेंट्स हो, होटल हो, पकोड़े की दुकान हो, ऑफिस हो, कैटरीन हो, बर्थडे पार्टी हो या कोई और फंक्शन हो टिशू पेपर की डिमांड हर जगह होती है मार्केट में दिन-प्रतिदिन इसकी डिमांड बढ़ती ही जा रही है यानी यह बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है 

साथ ही साथ इसके इस्तेमाल से पानी का खर्च भी बहुत कम हो जाता है इसका इस्तेमाल लोग कई तरीके से करते हैं जैसे हाथ पूछने में, मुंह पूछने में,प्लेट पूछने में इसका व्यापार करके आप अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं आप इस बिजनेस की शुरुआत बहुत कम लोगों की मदद से कर सकते हैं अतः इसके लिए बहुत अधिक श्रमिकों की जरूरत नहीं पड़ती  साथ ही साथ आप इस बिजनेस को अपने घर से भी स्टार्ट कर सकते हैं

आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं और जैसे-जैसे आप का बिजनेस बढ़ता है वैसे-वैसे आप अपने इन्वेस्टमेंट को बढ़ाकर इसको एक बड़ा रूप दे सकते हैं। इससे जुड़ी मशीन आप https://dir.indiamart.com/impcat/tissue-paper-making-machine.html पर जाकर बड़ी आसानी से खरीद सकते हैं।

19. बटन मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Button Manufacturing Business):

Button Manufacturing Business

बिना बटन के आप पैंट शर्ट की कल्पना भी नहीं कर सकते अगर आपकी शर्ट की एक भी बटन टूट जाए तो आप उसे पहनना नहीं चाहेंगे यानी बिना बटन के शर्ट या पैंट पहनना असंभव हैऐसी कोई ड्रेस नहीं है जिसमें बटन की जरूरत ना हो फिर चाहे वह टीशर्ट हो, शार्ट हो,  पैंट हो, जैकेट हो, कोर्ट हो, ब्लाउज हो या फिर कोई और परिधान बिना बटन के इसे नहीं बनाया जा सकता हैइसीलिए बटन का बिजनेस भी आप के लिए एक अच्छा और प्रॉफिटेबल बिजनेस हो सकता है 

मार्केट में इसकी मांग साल भर बनी रहती है यानी इस बिजनेस में मंदी का कोई खतरा नहीं है  साथ ही साथ आप इस बिजनेस को बड़े आसानी से स्टार्ट कर सकते हैंआप इस बिजनेस की शुरुआत अपने घर से भी कर सकते हैं अगर बात की जाए इसमें लगने वाली मशीन की तो इसमें आपको चार मशीनों की जरूरत पड़ेगी सबसे पहली मशीन जो होती है वह होती है सीट कटिंग मशीन ,दूसरी ड्रिलिंग मशीन, होल मास्टर मशीन और लास्ट में आपको लगेगी ग्राइंडिंग मशीन दोस्तों आप इन चार मशीनों के द्वारा इस बिजनेस को स्टार्ट कर सकते हैं 

दोस्तों अगर बात की जाए इसमें लगने वाले रो मटेरियल की तो इसमें सिर्फ और सिर्फ एक ही रो मटेरियल लगता है और वह है एक्रेलिक शीट इसके अलावा आपको पैकेजिंग से जुड़ा कुछ सामान भी लग सकता हैइसमें आपको तीन से चार स्किल्ड लेबर की जरूरत होगी क्योंकि इन मशीन को चलाने के लिए स्किल्ड वर्कर की आवश्यकता होती है

आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं और जैसे-जैसे आप का बिजनेस बढ़ता है वैसे-वैसे आप अपने इन्वेस्टमेंट को बढ़ाकर इसको एक बड़ा रूप दे सकते हैं।

इससे जुड़ी मशीन आप https://dir.indiamart.com/impcat/button-machine.html पर जाकर बड़ी आसानी से खरीद सकते हैं।

20. ब्रिक्स मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Bricks Manufacturing Business):

Bricks Manufacturing Business

कल हर कोई अब खुद के पक्के मकान में रहना चाहता है  और ज्यादातर लोग आजकल पक्के मकान ही बनाते हैं  और जब बात हो पक्के मकान की तो ईंटो का जिक्र होना भी जरूरी है साथ ही साथ मार्केट में इसकी डिमांड भारी मात्रा में होती है क्योंकि आप 1 या 2 ईंटो के सहारे घर नहीं बना सकते  और मार्केट में इसकी डिमांड भी हमेशा बनी रहती है। 

अगर आप ईटों का बिजनेस शुरू करते हैं तो यह आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है आप इसे गांव या शहर किसी भी स्थान पर कर सकते हैं। 

अगर आप यह बिजनेस करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको एक बड़ी जगह की तलाश करनी होगी और वहां एक चिमनी बनवाने होगी तथा कई सारे वर्कर या कह सकते हैं लेबर को रखना पड़ेगा। आप इस बिजनेस को छोटे रूप में नहीं कर सकते यानी यह एक लार्ज स्केल बिजनेस है। अगर आप ये बिजनेस करना चाहते हैं तो आपको लगभग 15 से 20 लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे वैसे इस कार्य में प्रॉफिट की कोई कमी नहीं है।

21. आर्टिफिशियल फ्लावर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Artificial Flower Manufacturing Business):

Artificial Flower Manufacturing Business

आजकल लोग अपने घरों की साज-सज्जा में कोई कमी नहीं रखते और जब घर के डेकोरेशन की बात आती है तो फूलों का जिक्र होना भी जरूरी हो जाता है। जी हां मैं बात कर रहा हूं आर्टिफिशियल फूलों की।

आर्टिफिशियल फूलों के गुलदस्ते की डिमांड आजकल बहुत ज्यादा है आर्टिफिशियल फूल दिखने में खूबसूरत और आकर्षक होते हैं और ताजे फूलों की तरह यह जल्दी मुड़ जाते भी नहीं यानी आर्टिफिशियल फूलों का बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है।

अगर आप यह बिजनेस करना चाहते हैं तो इसमें आपको कई तरह की मशीनों की जरूरत पड़ेगी जो कि थोड़ी महंगी होगी यानी यह एक लार्ज स्केल बिजनेस है। अगर आप ये बिजनेस करना चाहते हैं तो आपको लगभग 15 से 20 लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे वैसे इस कार्य में प्रॉफिट की कोई कमी नहीं है।

22. इअर बुड्स मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Ear Birds Manufacturing Business):

Ear Birds

Cotton Buds making पर बात करना इसलिए जरुरी हो जाता है क्योंकि वर्तमान में अनेकों लोग ऐसे बिजनेस के बारे में सोच रहे होते हैं । जिसे बेहद कम निवेश अर्थात कुछ हजार रूपये खर्च करके भी शुरू किया जा सके और उस उत्पाद की माँग भी बाजार में ठीक ठाक हो। वैसे देखा जाय तो हमारे दैनिक जीवन में कपास एवं कपास से निर्मित उत्पादों का उपयोग बहुतायत तौर पर होता है ।

लेकिन इस लेख में हम जिस उत्पाद की बात कर रहे हैं उसे अंग्रेजी में Cotton Buds तो हिंदी में कपास की फाहें कह सकते हैं । वर्तमान में इनका इस्तेमाल कॉस्मेटिक एवं व्यक्तिगत स्वच्छता के लिए बहुतायत तौर पर किया जाता है कहने का अभिप्राय यह है की इनका इस्तेमाल व्यवसायिक एवं घरेलू दोनों स्तरों पर बहुतायत तौर पर किया जाता है।

इसलिए इस तरह के बिजनेस को शुरू करने का सबसे बड़ा फायदा यह है की इसे महज कुछ हजार रुपयों का निवेश करके भी छोटे स्तर पर शुरू किया जा सकता है। और इस व्यवसाय से उत्पादित उत्पाद Cotton Buds की माँग तो सर्वत्र है ही। कपास की फाहों की बात करें तो ये किसी एक छोटी सी प्लास्टिक या लकड़ी की तीली के दोनों सिरों पर कपास से निर्मित बेलनाकार आकृति की होती हैं।

आम तौर पर इन कपास के फाहों का इस्तेमाल लोगों द्वारा विभिन्न कॉस्मेटिक एवं व्यक्तिगत स्वच्छता के कार्यों के लिए किया जाता है। लेकिन कानों की सफाई के लिए इनका विशेष तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। वर्तमान में इनके विभिन्न प्रकार के डिजाईन बाजार में मौजूद हैं।

23. टेंपर्ड ग्लास मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Tempered Glass Manufacturing Business):

Tempered Glass

मोबाइल फोन के बढते उपयोग से भारत में एक नई बिजनिस इण्डस्ट्री का जन्म हुआ है। जिससे भारत में रोजगार के अवसर बढे हैं। आज कल मोबाइल फोन की खरीदारी के साथ मोबाइल की स्क्रीन की सुरक्षा के लिये स्क्रीन गार्ड या टैम्पर्ड ग्लास की भी खरीददारी बढ़ी है। ये ग्लास आपको फोन के साथ नही मिलते इन्हे अलग से खरीदना पड़ता है। एक ग्लास की कीमत मार्केट में 40 रूपये से शुरू होकर 150 रूपये तक होती है वहीं कुछ खास ब्राॅण्ड के ग्लास की कीमत 1500 रूपये तक होती है।

आइये जानते हैं कि कैसे आप घर पर ही टैम्पर्ड ग्लास का बिजनिस शुरू करके मुनाफा कमा सकते हो। घर पर ही कम लागत में मोबाइल के लिये स्क्रीन गार्ड या टैम्पर्ड ग्लास बनाये जा सकते हैं। एक टैम्पर्ड ग्लास को बनाने में करीब 9 रूपये का खर्चा आता हैं वही ज्यादा बेहतर क्वालिटी के ग्लास बनाने में करीब 20 रूपये का खर्चा आता है जिसे आप मार्केट में अच्छे रेट पर बेच सकते हो।

24. ईयर फोन मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Earphone Manufacturing Business):

Earphone   जैसे-जैसे मोबाइल फोन का यूज बढ़ते जा रहा है वैसे- वैसे मोबाइल हेडफोन की डिमांड भी बढ़ती जा रही है कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें हेडफोन पर गाने सुनना पसंद होता है साथ ही साथ कई लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें हेडफोन लगाकर  फोन पर बात करने की आदत होती है और यदि ऐसे में हेडफोन खराब हो जाए तो एक बड़ी मुसीबत हो जाती है और आप साथ-साथ मार्केट में जाकर नया हेडफोन खरीद डालते हैं यानी हेड फोन लगाना सिर्फ एक शौक नहीं बल्कि एक जरूरत बन गई है

इन सब बातों से यह पता चलता है कि हेडफोन का कारोबार करना भी आपके लिए एक अच्छा और प्रॉफिटेबल बिजनेस साबित हो सकता है हेडफोन के बिजनेस को आप बहुत ही कम लागत में अपने घर से भी कर सकते हैं अगर आप क्वालिटी हेडफोन बनाते हैं तो मार्केट में इसे आसानी से भेज सकते हैं  साथ ही साथ आपको इसकी पैकेजिंग और मार्केटिंग पर विशेष ध्यान देना होगा 

आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं और जैसे-जैसे आप का बिजनेस बढ़ता है वैसे-वैसे आप अपने इन्वेस्टमेंट को बढ़ाकर इसको एक बड़ा रूप दे सकते हैं।

25. गार्बेज बैग मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Garbage Bag Manufacturing Business):

Garbage Bag

आप लोगों में से कई लोगों ने गार्बेज बैग के बारे में सुना होगा और कई लोगों ने नहीं भी सुना होगा। गार्बेज बैग वह बैग होती है जिसमें हम कचरा डालते हैं। आप लोग जब भी किसी मॉल में जाते हैं तो आपने देखा होगा कि वहां लगे डस्टबिन के अंदर एक काले रंग का प्लास्टिक होता है। उसी प्लास्टिक को हम गार्बेज बैग कहते हैं। 

इसका इस्तेमाल कई जगह पर होता है जैसे, बड़े बड़े मॉल, हॉस्पिटल, बड़े बड़े मंदिर, ऑफिस, होटल, रेस्टोरेंट्स  और भी कई जगह ऐसी है जहां पर इसका यूज होता है  यानी गार्बेज बैग का बिजनेस करना भी आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। आपको मार्केट से उसके मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी जानकारी हासिल करनी होगी तभी आप इस बिजनेस को कर सकते हैं

26. यूएसबी केबल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (USB Manufacturing Business):

आजकल चाहे मोबाइल चार्ज करना हो या कंप्यूटर से डाटा ट्रांसफर करना हो आप उसे बिना डाटा केबल के या यूएसबी केबल के ट्रांसफर नहीं कर सकते जैसे-जैसे मोबाइल फोन, कंप्यूटर और दूसरे इलेक्ट्रॉनिक सामानों की भी मांग बढ़ती जा रही है वैसे वैसे यूएसबी केबल की मांग भी बढ़ती जा रही है मार्केट में इसकी डिमांड भी हमेशा बनी रहती है जिस कारण से इसे बेचना भी आसान है

आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं और जैसे-जैसे आप का बिजनेस बढ़ता है वैसे-वैसे आप अपने इन्वेस्टमेंट को बढ़ाकर इसको एक बड़ा रूप दे सकते हैं।

27. बेल्ट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Belt Manufacturing Business):

Belt  मड़े के बेल्ट एक एक्सेसरी हैं, जो महिलाओं एवं पुरुषों दोनों के द्वारा रोजाना उपयोग की जाती है। पूरी दुनिया में कोई भी उम्र का व्यक्ति हो, उसे बेल्ट की आवश्यकता होती ही है, इसलिए इसकी बाजार में बड़ी मांग है। ये बेल्ट काले एवं भूरे रंग में विभिन्न आकर्षक बकल के साथ आते हैं। इसे बनाने की प्रक्रिया भी बहुत आसान है, इसलिए यदि आप छोटे रूप में मैन्युफैक्चरिंग व्यवसाय के अवसर की तलाश कर रहे हैं जिसमें आपको मध्यम निवेश करना पड़े, तो चमड़े के बेल्ट बनाकर उसका व्यापार करना एक बहुत ही आकर्षक अवसर हो सकता है।

28. एयर फ्रेशनर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Air Freshener Manufacturing Business):

 

दोस्तों जैसे जैसे होटल्स का बिजनेस बढ़ता जा रहा है वैसे वैसे  एयर फ्रेशनर का बिजनेस भी बढ़ता जा रहा है  ऐसा नहीं है कि एयर फैशन का यूज सिर्फ होटलों में ही होता है बल्कि इसका यूज गाड़ियों और घरों में भी होता है। इसका मतलब यह है कि  बाजार में एयर फ्रेशनर की मांग भी काफी अच्छी खासी है  यानी एयर फ्रेशनर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस करके भी आप अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं।

अगर आप यह बिजनेस करना चाहते हैं तो इसमें आपको कुछ मशीनों की जरूरत पड़ेगी जो कि थोड़ी महंगी होगी यानी यह एक लार्ज स्केल बिजनेस है। अगर आप ये बिजनेस करना चाहते हैं तो आपको लगभग 3 से 5 लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे वैसे इस कार्य में प्रॉफिट की कोई कमी नहीं है।

29. नेल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Nail Manufacturing Business):

कील एक ऐसी चीज है जिसके बारे आज सभी जानते है क्योकि कील या Wire Nails का इस्तेमाल हमारे घरो के होता है सामान्य तौर पर बढ़ई (carpenter) द्वारा फर्नीचर आदि बनाने में किया जाता है। इसके अलावा दीवाल पर किसी वस्तु को टांगने ता लगाने के लिए किया जाता है। हालांकि कील का उपयोग के अन्य कामो में जैसे घर निर्माण में और किसी मशीनरी प्रोडक्ट की पैकिंग आदि में भी किया जाता है।

इसलिए आज कील की इतनी ज्यादा डिमांड है और इसकी डिमांड कभी कम नही होने वाली है और इनकी डिमांड के साथ इनका बिज़नेस भी बढ़ता जा रहा है क्योकि Wire Nails Manufacturing Business के अन्दर न तो ज्यादा इन्वेस्टमेंट करनी पड़ती है और यह बिज़नेस आसानी से शुरु किया जा सकता है तो कोई भी Person यदि Wire Nails Manufacturing Business शुरु करना चाहता है तो बिलकुल सही बिज़नेस है जिसके अन्दर अच्छे पैसे कमाए जा सकते है।

30. रबर बैंड मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Rubber Band Manufacturing Business):

Rubber Band

रबड़ बैंड स्टेशनरी प्रोडक्ट्स की लिस्ट में एक बहुत ही इंपॉर्टेंट प्रोडक्ट है बिना रबड़ बैंड के आप कई सारी चीजों को पैक नहीं कर सकते कई सारे ऐसे प्रोडक्ट होते हैं जिनको पैक करने के लिए रबड़ बैंड की जरूरत होती है अगर इसकी मांग की बात की जाए तो इसकी मांग हर जगह होती है जैसे स्टेशनरी शॉप,  रेस्टोरेंट्स, स्कूल, दुकान, फैक्ट्री आदि

इसकी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाकर भी आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं आप इस बिजनेस की शुरुआत अपने घर से भी कर सकते हैं आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं और जैसे-जैसे आप का बिजनेस बढ़ता है वैसे-वैसे आप अपने इन्वेस्टमेंट को बढ़ाकर इसको एक बड़ा रूप दे सकते हैं।आप इसके साथ-साथ और भी कई सारे स्टेशनरी प्रोडक्ट्स बना सकते हैं जैसे इरेज़र सॉफ्टवेयर पेंसिल आदि।

31. नूडल्स मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Noodles Manufacturing Business):

Noodles Manufacturing Business

जैसे-जैसे मार्केट में फास्ट फूड की डिमांड बढ़ती जा रही है वैसे-वैसे नूडल्स की डिमांड भी बढ़ती जा रही है  ऐसे में नूडल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा बिजनेस साबित हो सकता है जिसे कम स्थान में और कम पैसों में शुरू किया जा सकता है

इसकी मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी मशीनें और पार्ट्स बड़ी आसानी से आपको मार्केट में मिल जाएंगी  आप एक छोटी सी मशीन से बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं 

वैसे तो मार्केट में कई तरह की मशीनें उपलब्ध है लेकिन आप अपने प्रोडक्शन कैपेसिटी के हिसाब से किसी भी मशीन को लगा सकते हैं और अगर बात की जाए इसकी कीमत की तो यह आपको 40 से 60 रुपए के बीच मिल  जाएंगी 

आप इस बिजनेस से महीने के लगभग 30 से 40  हजार  रुपए बड़े आसानी से कमा सकते हैं बाकी जैसे-जैसे  आपकी प्रोडक्ट की डिमांड मार्केट में बढ़ती जाएगी वैसे वैसे आप का प्रॉफिट भी बढ़ते जाएगा

32. स्टेपलर पीन मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Stapler Pin Manufacturing Business):

स्टेपलर पिन को एक स्टेशनरी आइटम के रूप में जाना जाता है इसका महत्व है इसलिए इतना ज्यादा है क्योंकि ज्यादातर जगह पर इसका यूज होता है फिर चाहे वह ऑफिस हो, दुकान हो,  फैक्ट्री हो, बैंक हो, हॉस्पिटल हो, रेस्टोरेंट्स  हो, स्कूल  हो  या फिर घर ही क्यों ना हो इसका इस्तेमाल हर जगह होता है

बिना स्टेपल पिन के स्टैटलर कोई काम का नहीं  इसका मतलब यह है की आप स्टेपल पिन का बिजनेस करके भी अच्छा मुनाफा कमा सकते होअगर स्टेपलर पिन की साइज की बात की जाए तो यह अलग-अलग स्टेपल के हिसाब से अलग-अलग साइज की बनती है

अगर आप यह बिजनेस करना चाहते हैं तो इसमें आपको कुछ मशीनों की जरूरत पड़ेगी जो कि थोड़ी महंगी होगी यानी यह एक लार्ज स्केल बिजनेस है। अगर आप ये बिजनेस करना चाहते हैं तो आपको लगभग  5 लाख रुपए इन्वेस्ट करना होगा 

33. सॉप मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Soap Manufacturing Business):

Soap

Soap को Hindi में साबुन कहते हैं और साबुनअनेको प्रकार का होता है, जैसे नहाने वाला साबुन, कपडे धोने वाला साबुन, खुशबूदार साबुन, जानवरों को नहलाने वाला इत्यादि और साबुन के उपयोग की आवश्यकता इस ब्रह्माण्ड में रह रहे हर एक मनुष्य प्राणी को अपने नित्य प्रतिदिन के क्रियाकलापों में अवश्य पड़ती है। इसलिए इस Small Business में क्या क्या सम्भावनाएं हैं। यह सवाल ही गलत होगा ।चूँकि इस Small Business में सम्भावनाएं अधिक हैं। इसलिए इस Business में आपको मुकाबला भी अधिक मिलेगा।

इसके लिए आपको अपने Target Customer का साबुनो के प्रति Behavior को समझना होगा। उदाहरणार्थ: कुछ लोग किसी भी उत्पाद का Brand न जानकर उसके रंग से पहचानते हैं। जैसे कुछ लोग कहते हैं की कपडे धोने वाला काले रंग का साबुन अन्य कपडे धोने वाले साबुनो के मुकाबले अच्छे कपडे धोता भी है, और चलता भी ज्यादा है। तो ऐसे Cusomers को Target करने के लिए आपको अपने साबुन का रंग काला ही रखना पड़ेगा। और अपने Competitors के लिए एक Strategy Develop करनी होगी। साबुन बनाने का यह Small Business Ideas काफी किफायती Business Idea साबित हो सकता है।

34. पेपर बैग मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Paper Bag Manufacturing Business):

Paper Bag

Paper Carry Bag के उद्योग या Manufacturing Business पर प्रकाश डालने से पहले हमें प्लास्टिक बैग के बारे में संक्षेप में समझना होगा। हालांकि यदि प्लास्टिक की हम बात करें तो इसके गुणों के आधार पर यह बहुत ही बड़े अविष्कारों में से एक माना जाता है जिसने मनुष्य के जीवन को सरल बनाने में अपना काफी योगदान दिया है ।

लेकिन दूसरी तरफ एक सच्चाई यह है की सामान को इधर उधर ले जाने में प्रयोग किये जाने वाले प्लास्टिक के Carry Bag वातावरण को दूषित करने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं। क्योंकि प्लास्टिक के Carry bag को पूरी तरह से नष्ट करना असम्भव होता है यह ज्यों के त्यों मिटटी में शताब्दियों तक रह सकते हैं और मिटटी को गन्दा एवं अशुद्ध कर देते हैं ।

मिटटी में प्लास्टिक होने से मिटटी अपने पोषक तत्वों को ग्रहण करने में असमर्थ हो जाती है जिससे वह अनुपजाऊ एवं बंजर हो सकती है । कहने का आशय यह है की प्लास्टिक के मिटटी में मिल जाने से वहां की मिटटी बंजर एवं रेगिस्तान में तब्दील हो सकती है।

एक आंकड़े के मुताबिक यह अनुमान लगाया जाता है की प्लास्टिक की थैलियाँ लगभग 250 साल तक मिटटी में रह सकती हैं अर्थात ढाई सौ साल तक यह नष्ट नहीं होती हैं। इसलिए वर्तमान में सरकार द्वारा अनेक राज्यों में Plastic Carry Bag पर प्रतिबंध है और कागज़ से निर्मित Carry Bag यानिकी Paper Carry Bag चलन में हैं और इनका चलन क्षेत्र बढ़ता जा रहा है।

इसकी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाकर भी आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं आप इस बिजनेस की शुरुआत अपने घर से भी कर सकते हैं आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं और जैसे-जैसे आप का बिजनेस बढ़ता है वैसे-वैसे आप अपने इन्वेस्टमेंट को बढ़ाकर इसको एक बड़ा रूप दे सकते हैं।

35. स्कूल बैग मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (School Bag Manufacturing Business):

School Bag

अगर आप कोई नया काम शुरू करना चाहते हैं तो हम आपको ऐसे बिजनेस के बारे में जिसे आप शुरू कर रेगुलर इनकम कर सकेंगे। आप स्‍कूल बैग बनाने की फैक्‍ट्री लगा सकते हैं। यह ऐसा काम है, जिसमें नुकसान बहुत कम है और अगर सही से मार्केटिंग हो गई तो आप अच्‍छा खासा कमा कर सकते हैं।

आजकल कई सारी स्कूल ऐसी है जो  अपने स्कूल के नाम से बैग बनवाती हैं साथ ही साथ कई सारी इंस्टिट्यूट भी है जो अपने नाम से बैग बनवाती है इसका मतलब यह है कि बैग की डिमांड भी मार्केट में बहुत ज्यादा है।

आप इस बिजनेस को छोटे और बड़े दोनों रूप में कर सकते हैं और अगर बात की जाए इस पर आने वाले इन्वेस्टमेंट की तो वह आपके बिजनेस के साइज पर डिपेंड करता है  फिर भी आप इस बिजनेस की शुरुआत  लगभग 2 रुपए से कर सकते हैं  और धीरे-धीरे इसे बड़ा रूप दे सकते हैं।

36. बेड शीट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Bed Sheet Manufacturing Business):

Bed Sheet

बेडशीट यानी की चादर किसी भी व्यक्ति की न्यूनतम आवश्यकताओं में से एक है जैसे जैसे लोगों  लाइफस्टाइल बेहतर होती जा रही है वैसे वैसे अलग-अलग तरह की बेडशीट यानी की चादरों की डिमांड भी बढ़ती जा रही है। आजकल ज्यादातर लोगों अपने घर में अच्छी से अच्छी चादर बिछाना चाहते हैं  फिर चाहे वह मिडिल क्लास हो या अपर क्लास 

अगर बात की जाए मार्केट में इसकी डिमांड की तो ऐसी कोई जगह नहीं है जहां इसकी डिमांड ना हो फिर चाहे वह गांव हो या शहर चादर की डिमांड हर जगह और हर समय रहती है और त्योहारों के समय  इसकी डिमांड और भी बढ़ जाती है

वैसे तो मार्केट में पहले से ही बहुत सारी कंपनियां हैं जो बेड शीट्स का  बिजनेस कर रही है और उनमें सबसे प्रमुख नाम है बॉम्बे डाइंग का लेकिन इनकी  बेड शीट्स की बात करें तो वह काफी महंगी होती है और ज्यादातर लोग उसे नहीं खरीद पाते हैं क्योंकि कई सारे लोगों का बजट इतना नहीं होता कि वे इन  बेड शीट्स को खरीद पाए

यही कारण है कि आप भी बेडशीट का व्यापार कर के लोगों को एक नया और बेहतर विकल्प दे सकते हैं ताकि वे अपने बजट के अनुसार बेडशीट खरीद सके 

अगर बात की जाए इसमें लगने वाले कैपिटल की तो उसका अंदाजा लगाना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि यह पूरी तरह आप पर निर्भर करेगा कि आप किस तरह की फैक्ट्री लगाना चाहते हैं और किस क्वालिटी की चादर बनाना चाहते हैं फिर भी अगर बात की जाए एक मिनिमम इन्वेस्टमेंट की तो आपके पास लगभग इसकी मैन्युफैक्चरिंग के लिए 20 से 25  लाख रुपए होने चाहिए

37. स्लिपर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Slipper Manufacturing Business):

Slipper Manufacturing Business

स्लीपर यानी की चप्पल आप स्लीपर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस स्टार्ट करके भी अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं। आमतौर पर एक जोड़ी चप्‍पल की लागत 20 से 30 रुपए के बीच आती है। वहीं इन्‍हें आप थोक में आसानी से 40 से 50 रुपए में आसानी से बेच सकते हैं। 

बिजली समेत अन्‍य खर्चों को निकाल दिया जाए तो एक चप्‍पल पर मैन्‍युफक्‍चरर को 10 रुपए का मुनाफा होता है। मशीन एक घंटे में करीब 80 चप्‍पलें तैयार कर देती है। दिन के आठ घंटों में करीब 640 जोड़ी चप्‍पलों का प्रोडक्‍शन हो सकता है। 

इसमें आपको करीब 6400 रुपए की इनकम होती है। हफ्ते में प्रोडक्‍शन के हिसाब से यह इनकम 38,400 रुपए और महीने में करीब 1.5 लाख ठहरती है। हालांकि इसके लिए जरूरी है कि आपके पास पर्याप्‍त डिमांड हो।

अगर बात की जाए मशीन की तो मार्केट में कई तरह की मशीनें उपलब्ध है आप अपनी प्रोडक्शन कैपेसिटी के हिसाब से किसी भी मशीन को खरीद सकते हैं और बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं।

38. शूज मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Shoes Manufacturing Business):

Shoes

कहते हैं व्यक्ति के जूतों को देखकर व्यक्ति के बारे में बहुत कुछ अनुमान लगाया जा सकता है किसी भी व्यक्ति का परिधान उसके व्यक्तित्व की एक छवि प्रस्तुत करती है इसलिए एक ऐसे परिधान का चुनाव करना जो हमारे व्यक्तित्व अनुरूप हो यह बहुत आवश्यक है जब परिधान की बात हो रही हो तो उसमें जूते भी बहुत अहमियत रखते हैं आज जूते आदि सिर्फ एक जरूरत नही है, बल्कि यह एक फैशन स्टेटस भी बन गया है कोई भी महिला हो या पुरुष हर कोई अलग अलग मौकों पर अलग अलग तरह के जूते पहनता है इससे जूते बनाने के क्षेत्र में रोजगार के अच्छे अवसर बन जाते हैं।

जूते बनाने का बिजनेस बहुत ही संभावनाओं वाला बिजनेस है यदि आप जूते बनाने का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो, यह एक अच्छा निर्णय साबित हो सकता है जूते बनाने का बिजनेस बहुत ही फायदेमंद बिजनेस होता है इसमें अच्छी कमाई होने की संभावनाएं हैं लेकिन इस बिजनेस में सब कुछ इतना आसान नहीं होता है यह एक ऐसा क्षेत्र हैं, जहां बहुत ही ज्यादा प्रतिस्पर्धा है आज जूते बनाने के क्षेत्र में कई बड़ी बड़ी कंपनी ने कब्जा कर रखा है।

ऐसे में अपने नए बिजनेस के लिए बाजार बनाना सबसे बड़ी चुनौती होती है इसलिए इस बिजनेस को शुरू करने से पहले एक अच्छी योजना होना बहुत जरूरी है साथ ही यह एक ऐसा बिजनेस है, जो आपसे ज्यादा इन्वेस्टमेंट की मांग भी करता है क्योंकि प्रोडक्ट की अच्छी गुणवत्ता के कारण ही कोई भी व्यक्ति इस बिजनेस में लंबे समय तक टिका रह सकता है।

39. सेलो टेप मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Cello Tape Manufacturing Business):

Cello Tape

सेलो टेप की डिमांड पर नजर डाली जाए, तो इसकी मांग बाजार में काफी अच्छी खासी है. सेलो टेप एक ऐसी वस्तु है, जिसका इस्तेमाल लगभग हर घर, दुकान और दफ्तर में किया जाता है। इसलिए अगर सेलो टेप बनाने का व्यापार कोई खोलता है, तो उसे इसमें अच्छा खासा फायदा हो सकता है। वहीं इस व्यापार को कैसे शुरू किया जाए और इस व्यापार से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी को आप इस लेख को पढ़कर हासिल कर सकते हैं।

सेलो टेप व्यापार भी अन्य व्यापारों जैसे ही है। इस व्यापार को शुरू करने के लिए भी आपको मशीनों और टेप बनाने की सामग्री की जरूरत पड़ेगी। इन दोनों चीजों की खरीद कर आप अपने व्यापार को शुरू करने की और अपना पहला कदम रख लेंगे। इस व्यापार से जुड़ी सामग्री आपको आसानी से बाजार में मिल जाएगी। 

आप इसकी मशीन को लगभग 85 हजार रपय में खरीद सकते हैं और महीने में लगभग 60 से 80 हजार  रुपए तक कमा सकते हैं बिजनेस बढ़ने के बाद आप भविष्य में फुली ऑटोमेटेड मशीन भी ले सकते हैं जिससे आपका मुनाफा कई गुना बढ़ जाएगा

40. हेयर बैंड मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Hairband Manufacturing Business):

Hairband

दोस्तों आप सभी को पता है कि मार्केट में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स की डिमांड कितनी ज्यादा है और उसी से जुड़ा एक प्रोडक्ट है हेयर बैंडहेयर बैंड एक ऐसा आइटम है जो कि लगभग हर कॉस्मेटिक दुकान में उपलब्ध होता है। यह एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसे लड़कियों से लेकर महिलाएं तक यूज करती है और किसी भी लड़की या महिला के पास 8 से 10 हेयर बैंड तो मिल ही जाएंगे

मार्केट में हेयर बैंड की कई सारी वैरायटी उपलब्ध होती है  और अगर बात की जाए  इन पर आने वाली  कॉस्टिंग की तो मात्र 2 से 3 में यह बन जाते हैं और मार्केट में लगभग 10 में  सेल किए जाते हैं। 

इसीलिए आप हेयर बैंड का बिजनेस करके भी अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं इस बिजनेस की शुरुआत आप अपने घर से भी कर सकते हैं और अगर बात की जाए इस में आने वाले लागत की तो आप मात्र 30 से 40  हजार  रुपए में इस बिजनेस को आरंभ कर सकते हैं और बड़ी आसानी से 40 से 50  हजार रुपए महीने के कमा सकते हैं

41. ऑयल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Oil Manufacturing Business):

Oil Manufacturing Business

दोस्त अगर बात की जाए मस्टर्ड ऑयल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस की तो यह एक ट्रेडिशनल बिजनेस माना जाता है इसका बिजनेस करना भी एक प्रॉफिटेबल बिजनेस माना जाता है  क्योंकि यह एक खाद्य पदार्थ है तो इसकी मांग भी साल भर बनी रहती हैहालांकि बाजार में पहले से ही कई सारी कंपनियां अपना मार्केट जमा चुकी है फिर भी इस मार्केट में अनेक संभावनाएं हैं 

आप चाहे तो  अच्छी क्वालिटी,पैकेजिंग और मार्केटिंग के दम पर अपने बिजनेस को आगे बढ़ा सकते हैं और मार्केट में अपने ब्रांड  को स्थापित कर सकते हैंअगर बात की जाए इसके स्वरूप की तो यह एक लार्ज स्केल बिजनेस है यानी आपको इसमें लगभग 10 से 15 लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे आप इसे स्मॉल स्केल पर भी कर सकते हैं लेकिन शायद वह आपके लिए इतना फायदेमंद साबित ना हो 

42. अगरबत्ती मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Agarbatti Manufacturing Business):

Agarbatti

अगरबत्ती पूजा पाठ से जुड़ी एक महत्वपूर्ण सामग्री है फिर चाहे वह हिंदू हो मुसलमान हो या फिर किसी और धर्म के लोग अगरबत्ती का उपयोग हर जगह होता है यानी ऐसी कोई जगह नहीं है जहां अगरबत्ती का उपयोग ना होता हो फिर चाहे वह गांव हो या शहर  अगरबत्ती का उपयोग हर जगह होता है साथ ही साथ बाजार में इसकी मांग भी हमेशा बनी रहती है 

अगरबत्ती का व्यापार शुरू करने के लिए आपको कुछ जरूरी जानकारी होनी बेहद जरूरी है जैसे अगरबत्ती कैसे बनाई जाती है अगरबत्ती में लगने वाला रॉ मटिरिअल और मशीनों की जानकारी आदि।अगर आप घर पर इस बिज़नेस  को शुरू करना चाहते हैं तो आपको मशीन की जरूरत नहीं होगी लेकिन आप अगर इस बिज़नेस को सही ढंग से और बड़े रूप में करना चाहते हैं तो आपको मशीन की जरूरत होगी

आप इसे 50 हजार से 1 लाख रुपए में स्टार्ट कर सकते हैं और लगभग 40 से 50  हजार रुपए तक  हर महीने बड़ी आसानी से कमा सकते हैं और जैसे-जैसे आप का बिजनेस बढ़ता है वैसे-वैसे आप अपने इन्वेस्टमेंट को बढ़ाकर इसको एक बड़ा रूप दे सकते हैं।

43. पीवीसी पाइप मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (PVC Pipe Manufacturing Business):

PVC Pipe Manufacturing Business

पीवीसी पाइप बनाने का व्यापार शुरू करने से पहले आपको यह जानना होगा, कि यह होता क्या हैं और इसका उपयोग क्या है. तो आपको बता दें, कि पीवीसी पाइप का मतलब होता है, पॉलीविनाइल क्लोराइड पाइप, जिसका उपयोग कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री, विद्युत एवं इरीगेशन में होता है. ये अलग – अलग आकारों, रंगों और कार्यक्षमता में आते हैं। यदि आप इसकी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट की शुरुआत कर व्यवसाय करना चाहते हैं, तो यह आपके लिए काफी लाभकारी व्यवसाय होगा, क्योंकि इन दिनों इसकी मांग बढ़ती जा रही है।

अगर बात की जाए इसके स्वरूप की तो यह एक लार्ज स्केल बिजनेस है यानी आपको इसमें लगभग 15 से 20 लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे या फिर  इससे भी ज्यादा यानी आप कितनी बड़ी फैक्ट्री लगाना चाहते हैं यह उसके ऊपर भी डिपेंड करेगा

44. ब्लैक टेप मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Black Tape Manufacturing Business):

Black Tape Manufacturing Business

ब्लैक टेप की डिमांड पर नजर डाली जाए, तो इसकी मांग बाजार में काफी अच्छी खासी है। हां जितनी भी इलेक्ट्रॉनिक की दुकान में जाएंगे आपको ब्लैक टेप जरूर देखने को मिलेगा। अगर बात की जाए इसकी यूज़ की तो जब भी कोई व्यक्ति घर बनाता है और अपने घर में इलेक्ट्रिकल वर्क करवाता है तो ब्लैक टेप की जरूरत अवश्य पड़ती है यानी कोई भी इलेक्ट्रिकल वर्क बिना ब्लैक  टेप  के करना थोड़ा मुश्किल है। 

ब्लैक टेप व्यापार भी अन्य व्यापारों जैसे ही है। इस व्यापार को शुरू करने के लिए भी आपको मशीनों और टेप बनाने की सामग्री की जरूरत पड़ेगी। इन दोनों चीजों की खरीद कर आप अपने व्यापार को शुरू करने की और अपना पहला कदम रख लेंगे। इस व्यापार से जुड़ी सामग्री आपको आसानी से बाजार में मिल जाएगी। 

आप इस बिजनेस की शुरुआत डेढ़ लाख तीन रुपए इन्वेस्ट करके कर सकते हैं  और  लगभग 60 से 80 हजार  रुपए तक कमा सकते हैं। बिजनेस बढ़ने के बाद आप भविष्य में फुली ऑटोमेटेड मशीन भी ले सकते हैं जिससे आपका मुनाफा कई गुना बढ़ जाएगा।

45. मास्किंन टेप मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Maskin Tape Manufacturing Business):

Maskin Tape

मास्किंग टेप यानी फर्नीचर मैन्युफैक्चरिंग में काम आने वाला। मास्किंग टेप की डिमांड पर नजर डाली जाए, तो इसकी मांग बाजार में काफी अच्छी खासी है।आप जितनी भी फर्नीचर की दुकान में जाएंगे आपको मास्किंग टेप जरूर देखने को मिलेगा। अगर बात की जाए इसकी यूज़ की तो जब भी कोई व्यक्ति घर बनाता है और अपने घर में फर्नीचर का काम करवाता है तो मास्किंग टेप की जरूरत अवश्य पड़ती है यानी कोई भी फर्नीचर बिना मास्किंग  टेप  के बनाना थोड़ा मुश्किल है। 

मास्किंग टेप व्यापार भी अन्य व्यापारों जैसे ही है। इस व्यापार को शुरू करने के लिए भी आपको मशीनों और टेप बनाने की सामग्री की जरूरत पड़ेगी। इन दोनों चीजों की खरीद कर आप अपने व्यापार को शुरू करने की और अपना पहला कदम रख लेंगे। इस व्यापार से जुड़ी सामग्री आपको आसानी से बाजार में मिल जाएगी। 

आप इस बिजनेस की शुरुआत डेढ़ लाख तीन रुपए इन्वेस्ट करके कर सकते हैं  और  लगभग 60 से 80 हजार  रुपए तक कमा सकते हैं। बिजनेस बढ़ने के बाद आप भविष्य में फुली ऑटोमेटेड मशीन भी ले सकते हैं जिससे आपका मुनाफा कई गुना बढ़ जाएगा।

46. सटर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Shutter Manufacturing Business):

Shutter

आपने दुकानों में लगे शटर जरूर देखे होंगे क्या आपने कभी सोचा है कि यह  शटर बनता कैसे है। जी हां मैं शटर की ही बात कर रहा हूं, शटर एक ऐसी चीज है जिसके बिना किसी भी दुकान की कल्पना नहीं की जा सकती फिर चाहे वह किराना दुकान हो, रेस्टोरेंट्स हो, होटल हो, गेस्ट हाउस हो, फैक्ट्री हो या फिर कोई और बिजनेस शटर लगाने का कार्य सबसे  पहले होता है।

इसकी फैक्ट्री लगाने के बाद आपको सबसे पहला कार्य यह करना होगा कि आपको अपने आसपास के एरिया में उन लोगों की तलाश करनी पड़ेगी जो दुकानों में शटर लगाने का कार्य करते हैं क्योंकि वही लोग आपके ग्राहक बनेंगे  यानी आपको उन्हीं लोगों को शटर  सीट भेजनी होगी।

आप शटर  बनाने की सीट का बिजनेस भी कर सकते हैं सटर मैन्युफैक्चरिंग मशीन आपको मार्केट से बड़े आसानी से 4 से 5  लाख रुपए के बीच मिल जाएगी और अगर प्रॉफिट की बात की जाए तो इस कार्य में प्रॉफिट भी अच्छा खासा है बाकी आपके बिजनेस के टर्नओवर पर भी डिपेंड करता है।

47. सॉस मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Souce Manufacturing Business):

Souce Manufacturing Business

जैसे-जैसे भारत में फास्ट फूड का कारोबार बढ़ता जा रहा है वैसे वैसे सॉस की डिमांड भी मार्केट में बढ़ती जा रही है यानी सॉस का बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा व्यवसाय हो सकता है।

मैं सिर्फ टोमेटो सॉस की बात नहीं कर रहा हूं यानी इसके अलावा भी कई ऐसे सॉस  है जिनकी मैन्युफैक्चरिंग आप स्टार्ट कर सकते हैं जैसे, सोया सॉस, चिली सॉस, गार्लिक सॉस। 

आप इसकी शुरुआत बड़े और छोटे  दोनों रूप में  कर सकते हैं  यह आप पर डिपेंड करता है कि आप किस क्वालिटी का सॉस बनाना चाहते हो उसी के अनुसार आपको मार्केट से मशीनें परचेस करनी होंगी।

आप इस बिजनेस की शुरुआत डेढ़ लाख तीन रुपए इन्वेस्ट करके कर सकते हैं  और  लगभग 60 से 80 हजार  रुपए तक कमा सकते हैं। बिजनेस बढ़ने के बाद आप भविष्य में फुली ऑटोमेटेड मशीन भी ले सकते हैं जिससे आपका मुनाफा कई गुना बढ़ जाएगा।

48. आइस क्रीम कोन मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Ice Cream Cone Manufacturing Business): 

Ice Cream Cone Manufacturing Business

वर्तमान समय में आइसक्रीम की डिमांड काफी बढ़ती जा रही है आज मार्केट में आपको कई तरह की आइसक्रीम देखने को मिलेगी वह भी नए-नए फ्लेवर, रंगों और टेस्ट में।

आइसक्रीम एक ऐसी चीज है जो हर जगह बिकती है फिर चाहे वह गांव हो या शहर और जब आइसक्रीम की बात होती है तो आइसक्रीम कोन का जिक्र होना भी जरूरी हो जाता है।

जी हां आप आइसक्रीम कोन मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस भी स्टार्ट कर सकते हैं और तरह-तरह की आइसक्रीम कोन वह भी तरह-तरह के रंगों में बनाकर मार्केट में भेज सकते हैं और अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं।

आप इसकी सेमी ऑटोमेटिक मशीन को लगभग 15 हजार रपय में खरीद सकते हैं और महीने में लगभग 20 से 40 हजार  रुपए तक कमा सकते हैं। बिजनेस बढ़ने के बाद आप भविष्य में फुली ऑटोमेटेड मशीन भी ले सकते हैं जिससे आपका मुनाफा कई गुना बढ़ जाएगा।

49. कैंडल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Candle Manufacturing Business):

Candle Manufacturing Business

कैंडल यानी की मोमबत्ती का बिजनेस भी बहुत ही प्रॉफिटेबल बिजनेस माना जाता है। मोमबत्ती उद्योग नया व्यवसाय शुरू करने के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है क्योंकि इसे शुरू करने में ज्यादा लागत की जरुरत नहीं पड़ती है। 

मोमबत्ती एक ऐसी चीज़ है जिसकी मांग कभी कम नहीं होती है जिससे व्यापार में लाभ होने की सम्भावनाये हमेशा बनी रहती है। आज के समय में  इसका उपयोग घर की सजावटों, पार्टीज, धार्मिक कार्यों,त्योहारों इत्यादि के लिए करते है। कैंडल बिज़नेस में आप अपने बजट के अनुसार लागत लगाकर (कम या ज्यादा) अपना व्यापार आसानी से शुरू कर सकते है।

कैंडल मैन्युफैक्चरिंग के लिए मार्केट में कई तरह की मशीनें उपलब्ध है जिसे आप 40  से  80  हजार रुपए की कीमत देकर खरीद सकते हैं। इसमें सेमी ऑटोमेटिक और फुली ऑटोमेटिक दोनों तरह के मशीनें शामिल है।

50. नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Notebook Manufacturing Business):

Notebook Manufacturing Business

नोटबुक यानी की कॉपी का बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा बिजनेस साबित हो सकता है यह कैसी चीज है जो हर विद्यार्थी की पहली जरूरत है फिर चाहे वह स्कूल स्टूडेंट हो या फिर कॉलेज स्टूडेंट कॉपी का यूज़ हर जगह होता है।

आजकल बहुत सारी छोटी-बड़ी स्कूल ऐसी है जो अपने नाम से कॉपी छपवाना चाहती है क्योंकि ज्यादातर स्कूल स्कूल से ही बच्चों को कॉपी और किताबें सेल करती है साथ ही साथ आप स्टेशनरी दुकानों में भी अपने माल को बेच सकते हैं।

यानी आप चाहें तो कॉपी मैन्युफैक्चरिंग का बिजनेस भी स्टार्ट कर सकते हैं हालांकि यह बिजनेस करना इतना भी आसान नहीं है क्योंकि इसमें आपको कई तरह की मशीनों की जरूरत पड़ेगी। साथ ही साथ उन मशीनों को चलाने के लिए स्किल्ड लेबर की भी जरूरत पड़ेगी और कॉपी के कवर वगैरह डिजाइन करने के लिए डिजाइनर की भी जरूरत पड़ेगी यानी कई तरह के लोगों को आपको काम पर रखना पड़ेगा तभी जाकर आप इस बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं। 

अगर बात करें इस बिजनेस पर आने वाली लागत की तो इसका अंदाजा लगाना थोड़ा मुश्किल है यह पूरी तरह आप पर डिपेंड करेगा कि आप किस लेवल का बिजनेस स्टार्ट कर रहे हैं और किस तरह की मशीनों को परचेस कर रहे हैं। 

51. मेहंदी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Mehndi Manufacturing Business):

Mehndi Manufacturing Business

अगर बात की जाए भारत के, त्योहारों और  शादियों  की तो बिना मेहंदी के उसकी कल्पना करना बहुत मुश्किल है। भारत में पूरे वर्ष कोई ना कोई त्यौहार आता और जाता रहता है। फिर चाहे वह रक्षाबंधन का त्यौहार हो, होली का त्यौहार हो, दिवाली का त्यौहार हो,करवा चौथ का त्यौहार हो या फिर कोई अन्य त्योहार मेहंदी लगाना आवश्यक बन जाता है।

कई मेहंदी  लगाने का कारोबार तेजी से बढ़ते जा रहा है। इस कारोबार से जुड़े कई लोग बताते हैं की इस बार कारोबार में लगभग 40% का उछाल आया है  यानी बाजार में  मेहंदी की मांग लगातार  बढ़ती जा रही है।

पहले महिलाएं और युवतियां किसी विशेष अवसर पर ही मेहंदी लगवाती थी  लेकिन आज ऐसा नहीं है आप जबे चाहें किसी भी मॉल या मार्केट में जाकर मेहंदी लगवा सकते हैं।

इसको देखकर यह पता चलता है कि मेहंदी का व्यापार करना भी आपके लिए मुनाफे का सौदा हो सकता है। आप मेहंदी का पाउडर भी बना सकते हैं और रेडीमेड कोन भी बना सकते हैं।

आप इस बिजनेस की शुरुआत अपने घर से भी कर सकते हैं और मात्र 25 से 30  हजार रुपए में  इसकी शुरुआत कर सकते हैं। व्यापार बढ़ने पर भविष्य में आप बड़ी मशीन भी परचेस कर सकते हैं और अपने प्रोडक्शन को बढ़ा सकते हैं शुरुआत में आप इससे 30 से 40 रुपए  महीने के कमा सकते हैं। 

52. डिटर्जेंट पाउडर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Detergent Powder Manufacturing Business):

Detergent Powder Manufacturing Business

डिटर्जेंट पाउडर साफ़ सफाई के लिए बहुत ही आवश्यक वस्तु है. इसका प्रयोग साधारण तौर पर कपडे धोने के लिए किया जाता है. बाज़ार में विभिन्न तरह के ब्रांड ऐसे डिटर्जेंट बेच कर बहुत अच्छा लाभ कमा रहे हैं. बाजारों की दुकानों में कई ऐसे डिटर्जेंट हैं, जिनकी कीमत बहुत अधिक है. बड़ी बड़ी कम्पनियाँ अपने ब्रांड का डिटर्जेंट बहुत आसानी से बेच रही हैं. आप भी अपने ब्रांड का डिटर्जेंट बहुत ही सरलता से बना कर बाज़ार में बेच सकते हैं. इस व्यवसाय में आपको बहुत अच्छा मुनाफा प्राप्त होगा.

आप इस बिजनेस की शुरुआत डेढ़ लाख तीन रुपए इन्वेस्ट करके कर सकते हैं  और  लगभग 60 से 80 हजार  रुपए तक कमा सकते हैं। बिजनेस बढ़ने के बाद आप भविष्य में फुली ऑटोमेटेड मशीन भी ले सकते हैं जिससे आपका मुनाफा कई गुना बढ़ जाएगा।

53. पैकेजिंग बॉक्स मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Packaging Box Manufacturing Business):

Packaging Box Manufacturing Business

किसी भी प्रोडक्ट को बिना कार्टून में पैक किए एक जगह से दूसरी जगह नहीं पहुंचाया जा सकता है यानी किसी भी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के लिए कार्टून एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रोडक्ट है और अधिकतर फैक्ट्रियां जहां  खाने पीने से जुड़े सामान, इलेक्ट्रॉनिक्स, कपड़े, सर्फ साबुन, तेल, प्लास्टिक से जुड़े सामान, ऑटोमोबाइल पार्ट्स आदि बनते हैं वहां पर कार्टून की डिमांड बहुत ज्यादा होती है  यानी बिना कार्टून के इनका काम चलना बहुत मुश्किल है।

इसकी यही जरूरत इसे एक अच्छा बिजनेस मॉडल बना देती है  यानी आप भी इस बिजनेस मॉडल को अपना सकते हैं और आगे बढ़ सकते हैं  कहने का तात्पर्य आप भी इस की फैक्ट्री लगा सकते हैं।

अगर बात की जाए इस में आने वाले लागत की तो जितने विविधता आपके प्रोडक्ट में होंगी उतनी ही तरह की मशीनें आपको खरीदनी होंगी यानी इस बिजनेस में आपको कई तरह की मशीनों का उपयोग करना होगा तब जाकर आप किसी प्रोडक्ट को या कह सकते हैं कार्टून को बना सकते हैं।

फिर भी अगर आप सेमी ऑटोमेटिक मशीन से इसकी शुरुआत करते हैं तो कम से कम 20  से 25  लाख रुपए  इन्वेस्ट करने होंगे और अगर आप फुली ऑटोमेटिक प्लांट लगाते हैं  तो लगभग 40  से 50  लाख रुपए  इन्वेस्ट करने होंगे। इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए आपको लगभग 10 से 15 लोगों की जरूरत होगी।

54. पिक्चर फ्रेम मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Picture Frame Manufacturing Business):

Picture Frame Manufacturing Business

आजकल लोग अपने घर के डेकोरेशन पर खास ध्यान देते हैं और जब बात डेकोरेशन की हो तो फोटो फ्रेम्स को कौन भूल सकता है कई लोग अपनी यादों को फोटो के माध्यम से फ्रेम में संजो कर रखते हैं  यानी ऐसा कोई घर नहीं होगा जहां एक भी फोटो फ्रेम ना मिले  फिर चाहे वह पर्सनल फोटो के रूप में हो या फिर भगवान की तस्वीरों के रूप में एक ना एक फोटो फ्रेम मिल ही जाता है।

इन सब को देखते हुए कहा जा सकता है की फोटो फ्रेम मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है यानी आप इस बिजनेस की शुरुआत भी कर सकते हैं।

आप 5 से 7  लाख रुपए इन्वेस्ट करके इसकी शुरुआत कर सकते हैं साथ ही साथ इसमें आपको कुछ स्किल्ड लेबर की जरूरत भी पड़ेगी ताकि आप इस बिजनेस को बेहतर तरीके से कर सकें और अगर बात की जाए प्रॉफिट की तो उसकी कोई कमी नहीं है जैसे-जैसे आप का मार्केट बढ़ते जाएगा वैसे वैसे आपकी  प्रॉफिट भी  बढ़ता जाएगा। 

55. नेप्थलीन  बोल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Napthlene Ball Manufacturing Business):

Napthlene Ball Manufacturing Business

नेफ्थलीन बॉल्स सफेद रंग की गोलियां होती है, जिसका उपयोग घरों में गर्म कपड़ो में और बाथरूम, टॉइलेट आदि में किया जाता है हमारे घरों में रोजाना उपयोग में आने वाली इन सफेद गोलियों को हम लोग फिनाइल की गोलियां भी कहते है, परंतु सच तो यह है कि यह ठोस फिनाइल की गोली न होकर नेफ्थलीन पाउडर से बनने वाली एक विशेष गोली है. जो जीवाणुओं को मारने और गंध को दूर करने का काम करती है

यह एक कम लागत में शुरू होने वाला बेहद ही किफायती व्यापार है, जिसका मार्केट पोटेंशियल भी अच्छा हैअगर आप यह बिजनेस करना चाहते हैं तो सबसे पहले कच्चा माल यानी नेप्थलीन पाउडर जिसकी कीमत  लगभग 150 रुपए प्रति केजी होगी इसके अलावा आपको  तेल, कपूर,  मोम  और सॉफ्ट स्टोर आदि की जरूरत होगी।

इसमें आपको बहुत भारी भरकम पैकेजिंग की जरूरत नहीं होगी आप इसे सिंपल  प्लास्टिक के पैकेट में पैक कर सकते हैं यानी पैकेजिंग का खर्चा बहुत ही कम होगा। आप इस बिजनेस की शुरुआत लगभग डेढ़ से  दो लाख  रुपए इन्वेस्ट करके कर सकते हैं और भविष्य में व्यापार बढ़ने पर इसे बड़ा रूप भी दे सकते हैं।

56. इरेज़र मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Eraser Manufacturing Business):

Eraser Manufacturing Business

इरेज़र यानी मिटाने वाला रबड़ बच्चों द्वारा काफी इस्तेमाल किया जाता है यह एक प्रमुख स्टेशनरी प्रोडक्ट  मैं से एक है और इसकी डिमांड भी काफी अधिक है और आप काफी अच्छी तरह से जानते हैं कि इसका उपयोग कहां-कहां हो सकता है या होता है।

इरेज़र बनाने के काम में जो सबसे महत्वपूर्ण चीज है वह है रबड़। इसकी मैन्युफैक्चरिंग में दो तरह के  रबड़ों  का इस्तेमाल होता है  जिनमें से एक है प्राकृतिक रबड़  और दूसरा है सिंथेटिक रबर, सिंथेटिक रबड़ बनाने के कार्य में पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स जैसे इथाईलीन और स्टायरिन का इस्तेमाल किया जाता है वहीं प्राकृतिक रबड़ ,रबड़ के पेड़ से प्राप्त हो जाता है। 

रबड़ के दाम में हमेशा उतार-चढ़ाव होता रहता है इसलिए इनके सही दाम का अनुमान लगाना थोड़ा मुश्किल है। छोटे स्तर पर इसकी शुरुआत करने के लिए आपको लगभग 10 से 12 लोगों की जरूरत होगी और बड़े स्तर पर इनकी संख्या दुगनी हो जाएगी।

साथ ही साथ आपको इसकी मार्केटिंग और पैकेजिंग पर भी अच्छा खासा ध्यान देना होगा तभी जाकर आप मार्केट में अपनी एक पहचान बना पाएंगे अन्यथा मार्केट से आउट हो जाएंगे क्योंकि पहले से ही कई बड़ी-बड़ी कंपनियां इसकी मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी हुई है। अगर आप इस बिजनेस की शुरुआत करना चाहते हैं तो आपको लगभग 20 से 25  लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे। 

57. कपूर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Kapoor Manufacturing Business):

Kapoor Manufacturing Business

भारतीय संस्कृति में कपूर का धार्मिक महत्व रहा है यह एक क्रिस्टलीय ठोस पदार्थ है, जिसमे एक विशेष तरह की गंध पायी जाती है यह काम्फोर लौरेल नामक पेड़ से पाया जाता है. काम्फोर का पेड़ मुख्यतः चीन, भारत, मंगोलिया, जापान, तैवान आदि देशों में पाया जाता है. इस पेड़ या इसी प्रजाति की अन्य पेड़ों की लकड़ियों से कपूर प्राप्त होता है.

कपूर बनाने के लिए केवल एक कच्ची सामग्री की आवश्यकता पड़ती है. ये कच्ची सामग्री है काम्फोर पाउडर. काम्फोर (कपूर) पावडर को कई बार कपूर या कर्पूर पाउडर भी कहा जाता है. इस पाउडर और कपूर मेकिंग मशीन से कपूर टेबलेट बनाये जाते है.

58. पेन मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Pen Manufacturing Business):

Pen Manufacturing Business

दोस्तों हमारे देश में उद्योगों के लिए कई सारे ऐसे उत्पाद है, जिनका बिजनेस शुरू करके हम अच्छी खासी इनकम कर सकते हैं। रोजाना के कार्याें में काम आने वाले ऐसे उत्पादों की मांग बाजार में दिन-दिन बढ़ती रहती है। ऐसे कई उद्योगों के बारे में हमने आपको पहले ही बता दिया है। आज हम बात करने वाले हैं एक ऐसे उद्योग की जिसमें बनने वाला उत्पाद हर उम्र के व्यक्ति और बच्चों के काम आता है। आज हम पेन बनाने के उद्योग के बारे में जानेंगे।

पेन एक ऐसा साधन है जो विद्यालय में प्रवेश लेने के बाद बच्चों के लिए एक प्यारी आकर्षक चीज होती है।जिस प्रकार वक्त देखने के लिए इंसान हाथ में घड़ी पहनता है, ठीक उसी प्रकार आज के वक्त में पेन को भी अपने पास रखा जाता है। शिक्षित व्यक्ति की ये एक समाज में पहचान बनाता है। कभी-कभी जब किसी काम से हमारे पास पेन नहीं होती तो वहां इज्जत बिगड़ने जैसी बात हो जाती है। कई जने तो कह देते हैं कि पढ़े लिखे होकर पास में पेन नहीं रखते। एक कवि और लेखक के लिए ये सबकुछ होती है।

कहते हैं पेन के बिना एक पेनकार अधूरा रहता है। आपने देखा होगा दुकानों पर हिसाब किताब करने के लिए भी पेन का उपयोग किया जाता है। भले ही आज मशीने उपलब्ध हो लेकिन पुराने लोग और कई जने आज भी पेन का उपयोग करते हैं। तो अब हम जानेंगे आप पेन बनाकर कैसे इस उद्योग को शुरू कर सकते हैं।

59. पेंसिल मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Pencil Manufacturing Business):

Pencil Manufacturing Business

अगर बात की जाए पेंसिल की तो यह स्टेशनरी प्रोडक्ट से जुड़ा एक बहुत ही जरूरी प्रोडक्ट है ऐसा कोई बच्चा नहीं है जिसके पेंसिल बॉक्स में आपको पांच से छह पेंसिल ना मिले बच्चे हमेशा नई-नई पेंसिल की तलाश में रहते हैं आजकल पेंसिल कई तरह के रंगों और डिजाइंस में उपलब्ध है

अगर बात की जाए के उपयोग की तो इसका उपयोग लगभग हर जगह होता है फिर चाहे वह स्कूल हो, कोचिंग सेंटर हो, ट्यूशन सेंटर हो, एक्टिविटी सेंटर हो, ड्राइंग क्लास को, ऑफिस हो  पेंसिल का उपयोग हर जगह होता है

अगर बात की जाए मार्केट में पेंसिल के डिमांड की तो वह बहुत ज्यादा है यानी कि इसकी मांग हमेशा बनी रहती है यही कारण है कि पेंसिल का बिजनेस भी आपके लिए एक अच्छा बिजनेस ऑप्शन हो सकता है हालांकि मार्केट में बने रहने के लिए आपको  इसकी थोड़ी बहुत मार्केटिंग भी करनी होगी

आप इस बिजनेस की शुरुआत अपने घर से भी कर सकते हैं आपको मार्केट में पेंसिल मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी कई तरह की मशीनें मिल जाएंगीआप इस बिजनेस की शुरुआत  50  हजार  से  डेढ़ लाख  रुपए इन्वेस्ट करके कर सकते हैं

60. एलइडी बल्ब मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस (Led Bulb Manufacturing Business):

Led Bulb Manufacturing Business

एलईडी का पूरा नाम लाइट एमिटिंग डायोड है। इनके उपयोग से बिजली की अच्छी बचत हो जाती है, इसी वजह से एलईडी को बहुत बढ़ावा दिया जा रहा है। एलईडी के उपयोग को बढ़ाने के लिए कई स्कीम लायी गयी है जिससे देश में एलईडी के व्यापार की संभावनाएं बढती जा रही हैं। LED के व्यापार को बेहद कम पैसे में आसानी से शुरू किया जा सकता है।

इस तरह के व्यापार को शुरू करने के लिए कम से कम 1.5 से 2 लाख रुपए की आवश्यकता पड़ती है, हालाँकि दूकान चलने पर इससे प्रति माह लगभग 20,000 से 3,00,000 का मुनाफा प्राप्त हो सकता है और ये इस बात पर भी निर्भर करता है की आप बिज़नेस को किस स्तर (छोटे या बड़े) पर शुरू करना चाहते है। इस व्यापार में लाभ की बहुत अधिक सम्भावनाये रहती है।

दोस्तों अगर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस से जुड़ा ये पोस्ट आपको अच्छा लगे तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें और अगर आपके पास कोई सुझाव हैं तो हमें जरूर कमेन्ट सेक्शन में जरूर लिखकर बताएं।

Also Read:

Share Market Meaning in Hindi

101 Best Business Ideas in Hindi

Link:

 

Related Articles

Leave a Comment

Translate »