MOTIVATION ATO Z

Showing 10 of 11 Results

गायत्री मंत्र |Gayatri Mantra with Meaning In Hindi.

Original Gayatri Mantra ॐ भूर्भुव स्वः तत् सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि ,धियो यो नः प्रचोदयात गायत्री मंत्र से आप भली  भांती परिचित होंगे।यह मंत्र हिन्दू धर्म का एक महत्त्वपूर्ण मंत्र […]

 अंतर्मुखी और बहिर्मुखी व्यक्तित्व | Introverted and Extroverted Personality.| Introvert and Extrovert kya hai

 Introvert and Extrovert kya hai कभी देखा है ,कुछ लोगों को अकेले -अकेले या चुपचाप रहते हुए या कुछ लोगों को बिंदास और  मस्त  अपनी ज़िंदगी का मज़ा लेते हुए […]

Khud ko khush kaise rakhe|खुश रहने के फायदे/ खुश रहने का तरीका

Khud ko khush kaise rakhe ज़िंदगी की ज़द्दोज़हद में इन्सान इतना अकेला पड़ जाता है कि मुस्कुराना तो जैसे भूल ही जाता है।” खुशी” जिसके लिये तरसता आदमी, शायद समझ […]

khud ko hamesha positive kaise rakhe| खुद को हमेशा पॉजिटिव कैसे रखे

khud ko hamesha positive kaise rakhe. खुद को हमेशा पॉजिटिव कैसे रखे हर पल ऐसे जियो जैसे”                   नयी ज़िंदगी की शुरुआत हो!       ये ज़िंदगी के उतार-चढ़ाव ही ज़िंदगी […]

8 Tips ,Apne Mann ko Shant kaise rakhe / अपने मन को कैसे शांत रखें ?  

मन को कैसे शांत रखें ?Apne Mann ko Shant kaise rakhe Apne Mann ko Shant kaise rakhe यह एक topic आज के इस व्यस्त जीवन में बहुत बड़ा विषय बन गया […]

अपने व्यक्तित्व में निखार कैसे करे| apni personality develop kaise kare.

Personality develop कैसे करे Personality Origin:‐  apni personality develop kaise kare:- “Personality” शब्द से तो हम सभी  वाकिफ़ हैं!लेकिन शायद बहुत कम लोग जानते होंगे,कि यह  शब्द लेटिन शब्द “persona” […]

अच्छे जीवन के लिए लक्ष्य का होना|GOAL OF GOOD LIFE IN HINDI.

GOAL OF GOOD LIFE ( अच्छे जीवन के लिए लक्ष्य का होना )    कहते है , बड़े भाग मानुष तन पावा (तन मतलब जीवन) । जीवन में लक्ष्य ( […]

Jeevan mai karm Mhatv |Importance of karma in life in Hindi

Importance of karma in life पृथ्वी पर जन्म (Birth) लेने वाले हर मनुष्य का धर्म है, कर्म करना। कर्म क्या है(what is karma?), एक आम इन्सान की भाषा में कहा […]

क्या है आध्यात्मिक (Spiritual) होने का अर्थ, Meaning Of Being Spiritual

Meaning Of Being Spiritual:-आध्यात्मिकता, एक ऐसा शब्द जो आज मानव जीवन शैली में  मजाक बन कर रह गया है। मनुष्य, अपनी तुच्छ संसारिक वासनाओं की पूर्ति के लिये नैतिकता और  […]

कर्म और धर्म में क्या अन्तर है|Dharm or karm me kya anter hai?

What is difference between dharma and karm? आध्यात्मिकता (Spirituality) के आधार पर  इस समाज(Society)में  रहने वाले हर मनुष्य को कर्म करना  ही पड़ता है। साथ ही धर्म का पालन भी […]