Khud ko khush kaise rakhe|खुश रहने के फायदे/ खुश रहने का तरीका

Khud ko khush kaise rakhe

ज़िंदगी की ज़द्दोज़हद में इन्सान इतना अकेला पड़ जाता है कि मुस्कुराना तो जैसे भूल ही जाता है।” खुशी” जिसके लिये तरसता आदमी, शायद समझ ही नहीं पाता कि खुशी कोई शब्द नहीं, मन की एक प्यारी सी भावना है, जो जीने के उत्साह को दुगुना कर देती है।

 Khud ko khush kaise rakhe?एक ऐसा सवाल, जिसका जवाब शायद हमारे आस पास ही है, परंतु इन्सान ढूढता है सारे ज़माने में।

आइये इसी सवाल पर चर्चा करते हैं कि khud ko khush kaise rakhe.इस आर्टिकल को मन  से जरुर पढें, कहीं ना कहीं आपकी भावनाएँ भी जरुर आनंदित महसूस करेंगी। इस आर्टिकल के ज़रिये यही सच्चा प्रयास है हमारा।

Hum apne aapko khush kaise rakhe?

इस प्रश्न से पहले यह जानना अति आवश्यक है कि “खुशी” आखिर है क्या? खुशी का अर्थ क्या है? खुशी कोई वस्तु है या  मन की एक भावना।

जी हाँ, “खुशी” एक छोटा सा शब्द जो हर कोई पाना चाहता है परंतु अनजान है,हर इन्सान जो संसारिक वस्तुओं में  इसे खोजता है।“खुशी” मन की एक खूबसूरत भावना है जो ज़िंदगी को हर रुप में  स्वीकार करने में ही है।

“ACCEPTANCE IS THE HAPPINESS “. जिसे दूसरे शब्दों में  कहा जा सकता है कि ज़िंदगी का सुकून ही खुशी है। सुकून हमारे विचारों पर निर्भर करता है, जिसका उल्लेख हम आगे विस्तार से करेंगे।

 बड़ी-बड़ी  चीज़ों में  नहीं, छोटी छोटी चीज़ों में  भी खुशियों की कोई कमी नहीं। तनाव से घिरा मन जब राह चलते किसी बच्चे की मुस्कुराहट देख लेता है ना, तो वो जो एक प्यारी सी मुस्कान होठों पर  खिलती है ना, वही है सच्ची खुशी, सच्चा सुकून,” बिन मोल बस अनमोल”।

इस बात से आप भी जरुर सहमत होंगे। खुशी का अर्थ समझने के बाद ,आइये जानते हैं कि अपने आप को खुश कैसे रखें?

अपने आप को खुश रखने के लिये हमें व्यवस्थित जीवनशैली को अपनाना होगा।कईं सवाल हमारे सामने आते हैं कैसे खुश होना चाहिये? एक व्यक्ति को खुश और व्यस्त कौन रखता है? नज़र डालते हैं, उन छोटी-छोटी बातों पर जिन्हें शायद हम रोज़मर्रा की ज़िंदगी में नज़रअन्दाज़ कर देते हैं।

खुश रहने के उपाय

Khud ko khush kaise rakhe|

1.जल्दी सोना व जल्दी उठना

अच्छी सेहत (Health) के लिये बहुत जरुरी है, समय पर सोना व समय पर  उठना। जो हमारी दिनचर्या की खुशमिजाज़ी को कायम रखती है।अच्छी सेहत ही अच्छी ज़िंदगी जीने का मूलमंत्र है।

2.प्रार्थना

 सुबह बिस्तर से उठने से पहले हाथ जोड़कर उस ईश्वर का इस नयी सुबह के लिये धन्यवाद करें। नयी सुबह को एक नाये दिन की तरह जियें। ये छोटी सी प्रार्थना आपके अंदर एक ऊर्जा का संचार करेगी और सकारात्मकता को प्रेरित करेगी।

3.योगा/ मेडिटेशन (yoga or meditation)

सुबह सुबह अगर अपनी सेहत का ध्यान रखा जाये, योगा व मेडिटेशन  किया जाये तो पूरा  दिन शरीर में  स्फूर्ति बनी रहती है।

सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है जिससे की life ना केवल आनंदित रहती है बल्कि तनाव से लड़ने की क्षमता भी मिलती है।दिन भर खुश रहने का तरीका इससे अच्छा और  क्या हो सकता है।

4.अपने विचारों का निरीक्षण करें।

मन निरंतर विचारों से भरा रहता है।  नकारात्मक विचारों से जुड़ना, दुख पैदा करता है।  याद रखें कि सिर्फ इसलिए कि आप कुछ सोचते हैं इसका मतलब यह नहीं है कि यह सच है। गहरी साँस लें, अपने विचारों का निरीक्षण करें। वास्तविकता को ध्यान में  रखें।

EVERYTHING IS TEMPORARY ON EARTH.

चिंता व तनाव को भूलकर समस्या का समाधान ढूढें ।जिससे आपके मन ओर मस्तिष्क को भी शान्ति व खुशी का अनुभव होगा। ज़िंदगी में  हमेशा खुश रहना चाहिये, वास्तविकता को समझकर। खुश रहने के विचार ही Positivity उत्पन्न करती है, ज़िंदगी में।

पढ़ना जारी रखें, आइये कुछ और बातों पर  आपका ध्यान आकर्षित करते हैं जिससे हमें  ज्ञात होगा कि  Apne aapko khush kaise rakhe?

 

5.याद रखें कि आप ,अपनी भावनाएं नहीं हैं.

अर्थात जो भी आप feel करते हैं या जो भी आपके emotions हैं, सिर्फ़ वही आपका व्यक्तित्व नहीं  है।आप कितना भी ऊँचा या नीचा महसूस करें, आप भावनाओं के रोलर-कोस्टर नहीं हैं। आप इससे कहीं अधिक हैं।

 जब आप भावनाओं से लिपटे हुए(EMOTIONAL)महसूस करें तो रुकने का प्रयास करें।  देखें कि आपका शरीर कैसा महसूस करता है?

क्या आपका मन   तनावग्रस्त हैं? खुद को शान्त कैसे रखें? क्या आप लम्बी-लम्बी सांस ले रहे हैं?  अपनी सांस में वापस आ जाओ।  गहरी साँस लो और वास्तविकता को महसूस करें। आनन्द का अनुभव होगा।

6.वर्तमान  में जियें

   आप अपने वर्तमान में, जितने अधिक उपस्थित और सतर्क होंगे, आपको उतनी ही कम पीड़ा होगी। जब आप अतीत पर जोर देते हैं या भविष्य की चिंता करते हैं, तो अपने विचारों व भावनाओं पर वहीं विराम लगा दो! 

सांस अंदर लें और वापस वर्तमान में आ जाएं।  हमेशा याद रखना कि यह पल भी बीत जाएगा। अपने आपको कैसे खुश रखें?

Shayari  की कुछ पंक्तियाँ  वास्तविकता को ब्याँ करती हैं

“तलाश”

ख्वाब-ख्वाहिशों,उम्मीदों की काल्पनिकता में जी रहा इंसान

वास्तविकता से परे ,अपनी ही सोच के दायरों में बँध रहा  इंसान

हकीकत से डरता,सपनों में खुशियाँ तलाश रहा इंसान

बनावटी दुनिया में,जिंदगी से दूर भाग रहा इंसान !

 7.स्वयं का मूल्य समझे

खुद को अच्छा कैसे बनाएं? सत्यापन के लिए दूसरों की ओर न देखें।  आपकी जरूरत की हर चीज आपके अंदर है।  अपने गलत कामों के लिए खुद को क्षमा करें।  अपने आप को वह सारा प्यार दें जिसकी आपको जरूरत है। 

यदि यह आपको मुश्किल बनाता है, तो अपने आप से वैसा ही व्यवहार करें ,जैसा आप अपने सबसे अच्छे दोस्त के साथ करते हैं।

 जब तक मैंने आत्म-सत्यापन और आत्म-प्रेम का अभ्यास शुरू नहीं किया, तब तक मैं अपनी सबसे खराब आलोचक और सबसे कठोर न्यायाधीश थी।

ज़िंदगी में खुश कैसे रहें? बेहतर है, खुद से प्यार करें, अपना पूरा ध्यान रखें। आपका ,आपसे अच्छा दोस्त कोई हो ही नहीं  सकता।

8.धैर्य रखें

  आपके दिल का इलाज रातों-रात नहीं हो जाएगा।  हम आदत के प्राणी हैं;  नकारात्मक आदतों को छोड़ने में समय लगता है।  ।  जब आप बदलाव करते हैं तो आपके शरीर और दिमाग को समायोजित होने के लिए समय चाहिए।

जब आपको लगे कि आपने एक कदम पीछे ले लिया है, तो बस सांस लें और अपने आप से फिर से जुड़ें।  सतर्क और जागरूक रहें।  दृढ़ता आपको सही रास्ते पर रखेगी।यही है खुश रहने का तरीका।

अब तक लिखी गयी कुछ बातें, जो हमें इशारा करती हैं  कि khud ko khush kaise rakhe? लेकिन समझने कि बात ये है कि ये सभी Statements हमारी personal life से जुड़ी हैं, जिन पर  हमें  दृढ़ता से ध्यान देना होगा परंतु कुछ ऐसी भी बातें  हैं, जो हमारी ज़िंदगी में यकायक हो जाती हैं, लेकिन जिनका असर हमारे मन  पर तुरंत होता है,

ऐसे ही कुछ और points पर  विचार करते हैं जो मन को खुशी और  संतुष्टी प्रदान करते हैं।खुशी को प्रभावित करने वाले  कुछ ऐसे कार्य होते हैं ,  जो वर्तमान जीवन परिस्थितियों की तरह एक भूमिका निभाते है।

जो हम अपने अच्छे वाइब्स को बढ़ाने के लिए कर सकते हैं।  इनमें से कुछ  या उन सभी को आजमाने पर विचार करें!  और आपको अपने दिन को खुशमिजाज़ी से जीने का मौका जरुर मिलेगा।

खुश रहने के फायदे/ खुश रहने का तरीका

Khud ko khush kaise rakhe|

1.संगीत ( Music)

जब भी मन  करे, अपनी पसंदीदा धुनों को अवश्य सुने। जिससे की आपमें  एक अलग ही खुशी का संचार होगा। Music , तनाव को कम करने में सहायक है साथ ही mood को भी खुशनुमा बना देता है।

2.मित्र (Friends)

 खुश कैसे रहे ज़िंदगी में?दोस्तों से बढ़कर इसका कोई समाधान नहीं। जब भी वक़्त मिले , दोस्तों के साथ समय बिताएं। Get together या छोटी सी पार्टी , बहाना कोई भी हो, दोस्त ज़िंदगी को खुशनुमा बना देता है।

3.प्रकृति (Nature)

 अपनी daily life से कुछ समय निकालकर प्रकृति की सुन्दरता का आनन्द भी लेना चाहिये। Morning walk हो या छोटा सा trip! मन को सुकून और  आनन्द की अनुभूति होती है।रंग- बिरंगे फूल, पौधे, वन, वृक्ष एक अलग ही अनुभूति महसूस करवाते हैं।

4.मुस्कान ( Smile)

परिस्थितियाँ जैसी भी हो परंतु होठों पर मुस्कान को कायम रखें। कभी कभी बाहरी मुस्कुराहट भी किसी और  की मुस्कुराहट का कारण बन जाती है। आपकी वज़ह से किसी और  के चेहरे पर जो खुशी खिलती है ना वही सच्चा आनन्द है।

5.लेखन ( writing)

Khud ko strong kaise banaye?आप जानते हैं, इसका सरल उपाय है, सकारात्मक विचार। जी हाँ, Daily  अपनी Diary में  3 positive thoughts लिखें। और  पढ़े। इससे  ज़िंदगी में  आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी।

6.अच्छी सोच

ज़िंदगी की हर परिस्थिति का डट्कर मुकाबला करें। नकारात्मकता में  भी सकारात्मक सोच को ही अपनाये। अच्छी बातें ढूढने की ही कोशिश करे।

7.घुमना ( outing)

बाहर जाओ।  कुछ ही मिनट की ताजी हवा आपको एक नया दृष्टिकोण दे सकती है।20 मिनट की  वॉक से दिल की धड़कन तेज हो जाती है और तनाव कम हो जाता है।

 8.पौष्टिक भोजन

 अपने आप को एक बढ़ावा दें।   हम बात कर रहे हैं फल, सब्जी और प्रोटीन की।  जब आपका शरीर अच्छा महसूस करेगा तो आपका दिमाग भी उसका अनुसरण करेगा।

 9.संदेश ( Messages)

किसी के चेहरे पर  मुस्कुराहट लाने का एक आसन तरीका है, बिन वज़ह एक खूबसूरत message करना। कुछ ही शब्दों का नोट छोड़ कर किसी का दिन बनाएं। जो आपकी खुशी का भी सबब बनेगी।

10.शुक्रिया कहें

 कृतज्ञता का यह छोटा सा कार्य भी आपकी सकारात्मकता को बढ़ा देगा।

11. कुछ नया सीखो। 

चाहे वह किसी ऐसे विषय के बारे में  हो जिसमें आपकी रुचि हो या आप नहीं  जानते हो।  डिजिटल दुनिया चीजों को तेजी से और चलते-फिरते सीखने के तरीकों से भरी पड़ी है।

12. एक अच्छा श्रोता होना। 

सार्थक बातचीत की तलाश करना ,आपकी भलाई की भावना को बेहतर बनाने के लिए सिद्ध होता है।

13.सलाह लेना

अगर सब कुछ करने के बाद भी आप Depression feel कर रहें  हैं  तो आपको एक अच्छे चिकित्सक के परामर्श की आवश्यकता है।

14.माफी (Forgiveness)

khud ko khush kaise rakhe? शायद ही कुछ लोग जानते होंगे कि  माफी  हमारी खुशी का बहुत बड़ा आधार है। कभी भी किसी के लिये मन मे मैल ना रखे। इससे ना केवल आपको खुशी मिलेगी बल्कि आपका मन भी शान्त होगा। अपने आप को भी ,अपने past के लिये दोष ना दे। आगे बढ़े। खूबसूरत ज़िंदगी आपका इंतज़ार कर रही है।

15.दयालुता (Kindness)

आपकी एक प्यारी सी मुस्कुराहट, प्यार के दो शब्द, एक छोटी सी help कैसे किसी की खुशी बन सकती है, शायद आप जानते ही होंगे। जरुर अनुभव करे, इस आत्मीय आनन्द की । दूसरों के प्रति दयालुता की भावना अपनाये। जो आपकी खुशी का सबब बनेगा।

निष्कर्ष (CONCLUSION)

Khud ko khush kaise rakhe?सभी बातों पर  गौर करने के बाद feel हुआ कि आखिर खुशी महसूस करना अच्छा लगता ही है!  लेकिन खुशी की आदतों का मूल्य गहरा होता है। 

हार्डवायरिंग हैप्पीनेस में, रिक हैनसन बताते हैं कि नकारात्मकता हमारे दिमाग में जम जाती है।  हम अच्छी चीजों की तुलना में बुरी चीजों पर अधिक ध्यान देने की प्रवृत्ति रखते हैं।  

हालांकि, अगर हम केवल अपनी नकारात्मकता से शासित होते हैं, तो हम  आनंद, अच्छे रिश्तों और हास्य के अवसरों को खो देते हैं। 

खुशी की गतिविधियाँ, नकारात्मकता  को संतुलित करने में मदद करती हैं ताकि हम जीवन के सकारात्मक पहलुओं को देख और अनुभव कर सकें।

खुशी आपके अंदर है, और कहीं भी नहीं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *